15 Police Personnel Suspended In Lucknow


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

लखनऊ। कोर्ट की सुरक्षा में लापरवाही के आरोप में पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने दो उपनिरीक्षक समेत 15 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मियों को कोर्ट की सुरक्षा ड्यूटी में लगाया गया था, लेकिन वह गैर हाजिर हो गए। निरीक्षण के दौरान उनके अनुपस्थित पाए जाने पर अधिकारियों को अवगत कराया गया। इसकी जांच कराई गई तो मामला सही पाया गया। इसके बाद सभी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया।
पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने बताया कि वजीरगंज कोतवाली के उपनिरीक्षक अवधेश कुमार व तेज प्रताप सिंह, चौक कोतवाली मे मुख्य आरक्षी झगड़ू राम, ठाकुरगंज के सूर्य कुमार सिंह, वजीरगंज कोतवाली के विमलेश राज, रिजर्व पुलिस लाइन में तैनात मुख्य आरक्षी राधा रानी सिंह, हरिप्रिया, कुसुम शर्मा, सुमन, अमिता सिंह, विनय पांडेय, रमापति पांडेय, तालकटोरा थाना का आरक्षी अरुण कुमार, बाजारखाला कोतवाली का आरक्षी अजय कुमार और वजीरगंज के आरक्षी सौरभ कुमार को निलंबित किया गया है। उन्होंने बताया कि न्यायालय परिसर की सुरक्षा व निगरानी के लिए विभिन्न थानों और पुलिस लाइन से पुलिसकर्मियों की नियमित ड्यूटी लगाई जाती है। पांच जनवरी की सुबह करीब 10 बजे जनपद न्यायालय की सुरक्षा समिति ने न्यायालय के मुख्य परिसर और उच्च न्यायालय के पुराने भवन की सुरक्षा ड्यूटी की जांच की थी तो वहां कई पुलिसकर्मी अनुपस्थित पाए गए थे। इस संबंध में कोर्ट के अधिकारियों ने एक शिकायती पत्र भेजा था। पत्र की जांच कराई तो शिकायत सही पाई। इसके बाद उन्होंने अपर पुलिस उपायुक्त पश्चिम गोपाल चौधरी को मामले की विभागीय जांच के आदेश दिए। उन्होंने जांच में 15 पुलिसकर्मियों के ड्यूटी से गैर हाजिर होने की पुष्टि करते हुए अपनी रिपोर्ट पुलिस आयुक्त को सौंपी जिसके बाद सभी को निलंबित कर दिया गया।

लखनऊ। कोर्ट की सुरक्षा में लापरवाही के आरोप में पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने दो उपनिरीक्षक समेत 15 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मियों को कोर्ट की सुरक्षा ड्यूटी में लगाया गया था, लेकिन वह गैर हाजिर हो गए। निरीक्षण के दौरान उनके अनुपस्थित पाए जाने पर अधिकारियों को अवगत कराया गया। इसकी जांच कराई गई तो मामला सही पाया गया। इसके बाद सभी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया।

पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने बताया कि वजीरगंज कोतवाली के उपनिरीक्षक अवधेश कुमार व तेज प्रताप सिंह, चौक कोतवाली मे मुख्य आरक्षी झगड़ू राम, ठाकुरगंज के सूर्य कुमार सिंह, वजीरगंज कोतवाली के विमलेश राज, रिजर्व पुलिस लाइन में तैनात मुख्य आरक्षी राधा रानी सिंह, हरिप्रिया, कुसुम शर्मा, सुमन, अमिता सिंह, विनय पांडेय, रमापति पांडेय, तालकटोरा थाना का आरक्षी अरुण कुमार, बाजारखाला कोतवाली का आरक्षी अजय कुमार और वजीरगंज के आरक्षी सौरभ कुमार को निलंबित किया गया है। उन्होंने बताया कि न्यायालय परिसर की सुरक्षा व निगरानी के लिए विभिन्न थानों और पुलिस लाइन से पुलिसकर्मियों की नियमित ड्यूटी लगाई जाती है। पांच जनवरी की सुबह करीब 10 बजे जनपद न्यायालय की सुरक्षा समिति ने न्यायालय के मुख्य परिसर और उच्च न्यायालय के पुराने भवन की सुरक्षा ड्यूटी की जांच की थी तो वहां कई पुलिसकर्मी अनुपस्थित पाए गए थे। इस संबंध में कोर्ट के अधिकारियों ने एक शिकायती पत्र भेजा था। पत्र की जांच कराई तो शिकायत सही पाई। इसके बाद उन्होंने अपर पुलिस उपायुक्त पश्चिम गोपाल चौधरी को मामले की विभागीय जांच के आदेश दिए। उन्होंने जांच में 15 पुलिसकर्मियों के ड्यूटी से गैर हाजिर होने की पुष्टि करते हुए अपनी रिपोर्ट पुलिस आयुक्त को सौंपी जिसके बाद सभी को निलंबित कर दिया गया।



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *