Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

BJP Congress Ruling States MAP 2021; Narendra Modi | West Bengal Assam Kerala Tamil Nadu Puducherry Election Latest | BJP के खाते में इस बार केवल पुडुचेरी; अब 49% आबादी वाले 18 राज्यों में NDA, इंदिरा के समय में 17 राज्यों में कांग्रेस सरकार थी


  • Hindi News
  • Election 2021
  • BJP Congress Ruling States MAP 2021; Narendra Modi | West Bengal Assam Kerala Tamil Nadu Puducherry Election Latest

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

4 घंटे पहले

पांच राज्यों के चुनाव नतीजे लगभग साफ हो चुके हैं। इसमें भारत के सियासी नक्‍शे पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को एक राज्य का फायदा होता नजर आ रहा है, लेकिन वो केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के सहारे। यहां BJP और उसके सहयोगी दल के सरकार बनाने के आसार हैं। इससे देश में BJP और उसके सहयोगी दलों की सरकार वाले प्रदेशों की संख्या 18 हो जाएगी। हालांकि, आबादी और क्षेत्रफल के लिहाज से देखें तो उसे कोई खासा फायदा नहीं होगा, क्योंकि 14 लाख की आबादी और 483 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल वाला पुडुचेरी बेहद छोटा राज्य है।

इससे पहले नवंबर 2020 में हुए बिहार चुनाव के बाद देश के 49% आबादी और 52% क्षेत्र घेरने वाले 17 राज्यों में BJP और उसकी सहयोगी पार्टियों की सरकारें थीं, लेकिन BJP का उफान मार्च 2018 में था, जब NDA की देश के 21 राज्यों में सरकार थी। तब देश की 71% आबादी और 80% क्षेत्र पर BJP या NDA की सत्ता थी। इसकी तुलना अक्सर इंदिरा गांधी के दौर से की जाती है, जब कांग्रेस की देश के ज्यादातर राज्यों में सरकार थी।

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद ही राज्यों में BJP या BJP गठबंधन वाली सरकारों की तुलना इंदिरा गांधी के समय से की थी। दिसंबर 2017 में जब BJP गुजरात और हिमाचल में जीती, तो प्रधानमंत्री मोदी ने संसदीय दल की बैठक में बड़े गर्व से कहा, ‘इंदिरा गांधी जब सत्ता में थीं, तो कांग्रेस की सरकार 18 राज्यों में थी (हालांकि, उस समय कांग्रेस 17 राज्यों में थी), लेकिन जब हम सत्ता में हैं तो BJP 19 राज्यों में काबिज है।’

हालांकि तब कई राज्यों का बंटवारा नहीं हुआ था, इसलिए कांग्रेस की सत्ता वाले 17 राज्यों में देश की 88% आबादी रहती थी। इनका क्षेत्रफल भी 94% था। चलिए पांच राज्यों के चुनाव नतीजे के मौके पर हम देश के सियासी नक्‍शे पर होने वाले अहम बदलावों से गुजरते हैं-

इंदिरा गांधी के समय में कांग्रेस उफान पर थी

आजाद भारत में जब राज्यों के चुनाव हुए तो कांग्रेस देश की इकलाैती अहम पार्टी थी। तब केंद्र के साथ-साथ देश के 21 राज्यों में इसी पार्टी का शासन था। तब देश कई बदलावों से गुजर रहा था। कई रियासतें देश में शामिल हो रही थीं। 1967 के चुनाव में कांग्रेस को कड़ी चुनौती मिली और पार्टी 11 राज्यों में सिमट गई।

हालांकि, इंदिरा गांधी के समय में कांग्रेस ने राजनीतिक दांव-पेंच के साथ वापसी की। इंदिरा गांधी के राजनीतिक कौशल के चलते पार्टी ने 17 प्रमुख राज्यों पर जीत हासिल की। उस वक्त कुल 22 राज्य ही थे। बचे पांच राज्यों में मणिपुर में राष्ट्रपति शासन था। नागालैंड में नागा नेशनलिस्ट ऑर्गनाइजेशन, ओडिशा (तब उड़ीशा) में यूनाइटेड फ्रंट, तमिलनाडु (तब मद्रास) में द्रमुक और गोवा में गोमांतक पार्टी की सरकारें थीं।

मार्च 2018 में BJP राज्यों के संख्या के मामले में इंदिरा गांधी से आगे निकली
मई 2014 में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारतीय जनता पार्टी सत्ता में आई। इसके बाद के 30 विधानसभा चुनावों के बाद NDA ने 17 में सरकारें बनाईं। मार्च 2018 में त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड में सरकार बनाकर NDA 21 राज्यों में पहुंच गई। यही BJP और उसके गठबंधन NDA का पीक था। इसके बाद BJP आजादी के बाद वाली कांग्रेस के राज्यों के बराबर हो गई। तब BJP इंदिरा गांधी के समय की कांग्रेस से भी ऊपर निकली।

मार्च 2018 के बाद से भाजपा का विजय रथ कर्नाटक से रुकना शुरू हुआ। कर्नाटक में मई 2018 में चुनाव हुए। भाजपा के येदियुरप्पा ने शपथ भी ले ली, लेकिन बहुमत नहीं होने की वजह से इस्तीफा देना पड़ा। हालांकि, एक साल में ही कांग्रेस और जनता दल (सेक्युलर) के कुछ विधायक भाजपा में आ गए। तब जाकर कहीं कर्नाटक में भाजपा की वापसी हो पाई।

इसी तरह दिसंबर 2018 में जब मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में विधानसभा चुनाव हुए, तो भाजपा के हाथ से ये तीनों राज्य फिसल गए। मार्च 2020 में मध्य प्रदेश में कर्नाटक की तरह कांग्रेस के 22 विधायक भाजपा में आ गए। राज्य में 15 महीने बाद पार्टी की वापसी हुई। अक्टूबर 2019 में हरियाणा में भी भाजपा हार ही गई थी। बाद में उसने दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी की मदद से सरकार बचाई।

2019 में ही महाराष्ट्र और झारखंड भाजपा के हाथ निकल गए। 2020 में दिल्ली में BJP को हार का सामना करना पड़ा, लेकिन बिहार में NDA सत्ता बचाने में सफल रहा और नंवबर 2020 तक पार्टी 17 राज्यों में सिमट गई।

2019 आम चुनाव के बाद 10 में NDA 4 राज्य ही जीत पाई, अब 18 राज्यों में रहेगी सत्ता
आम चुनाव 2019 के बाद अब तक के 10 विधानसभा चुनावों में NDA को केवल चार राज्यों में जीत मिली है। अब पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और केरल में BJP को हार का सामना करना पड़ा है। BJP असम में सत्ता बचा पाई और पुडुचेरी में जीत की ओर बढ़ रही है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *