Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

Case filed for extortion, threatening against former Mumbai commissioner, accused of taking money by getting trapped in a false case | मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर के खिलाफ जबरन वसूली और धमकी देने का केस दर्ज, 28 अन्य को भी बनाया आरोपी


  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Case Filed For Extortion, Threatening Against Former Mumbai Commissioner, Accused Of Taking Money By Getting Trapped In A False Case

मुंबई32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब उनके खिलाफ ठाणे के नगर पुलिस स्टेशन में पैसा वसूली का केस दर्ज किया गया है। परमबीर के अलावा इस मामले में 28 अन्य लोगों के खिलाफ भी केस हुआ है।

परमबीर सिंह के खिलाफ सोनू जालान और उसके साथी केतन तन्ना ने केस दर्ज करवाया है। दोनों पर क्रिकेट मैच के दौरान सट्टेबाजी का भी आरोप है। फिलहाल जालान और उसके साथी केतन तन्ना पुलिस स्टेशन में मौजूद हैं और पुलिस अधिकारी उनका स्टेटमेंट ले रहे थे।

ठाणे नगर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराने पहुंचे तन्ना और जालान ने बताया कि उन्हें झूठे मामले में फंसा कर गिरफ्तार किया गया था और फिर परमवीर की सह पर उनसे रुपयों की वसूली की गई थी। केतन और जालान के अनुसार उन्होंने इस बारे में राज्य सरकार के विभिन्न मंत्रियों के पास शिकायत की थी, जिसके बाद उन्हें मामला दर्ज करने के लिए बुलाया गया और अब उन्हें न्याय मिला है। दोनों की शिकायत पर परमबीर के खिलाफ जबरन वसूली और धमकी देने का केस दर्ज किया गया है।

पिछले सप्ताह भी परमबीर पर दर्ज हुआ थे केस
पिछले सप्ताह ठाणे के कोपरी पुलिस स्टेशन में बिल्डर शरद अग्रवाल ने परमवीर सिंह, डीसीपी पराग मनेरे, संजय पुनमिया, सुनील जैन और मनोज घोटकर के खिलाफ मामला दर्ज किया था। सिंह के खिलाफ मुंबई के मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में पहला मामला दर्ज हुआ था, जिसकी जांच के लिए राज्य सरकार ने SIT गठित की है।

दो दिन पहले परमबीर के खिलाफ गठित हुई थी SIT
दो दिन पहले ही राज्य सरकार के गृह विभाग ने परमबीर सिंह के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए 7 सदस्यीय SIT टीम गठित की थी। इस टीम की अध्यक्षता डीसीपी स्तर के अधिकारी करेंगे। परमबीर और अन्य 5 पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मुंबई के मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में बिल्डर राधेश्याम अग्रवाल ने मकोका का झूठा केस लगाकर 15 करोड़ वसूलने का आरोप लगाया है।

अग्रवाल के खिलाफ जुहू पुलिस स्टेशन में दर्ज मकोका के केस की जांच भी SIT की टीम करेगी। परमबीर के कमिश्नर रहने के दौरान अग्रवाल पर छोटा शकील से संबंध होने का आरोप लगाते हुए मकोका का केस हुआ था।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *