Delhi Police Searches For Up Farmers Involved In Violent Mob – दिल्ली पुलिस को हिंसक भीड़ में शामिल यूपी के किसानों की तलाश, इन जिलों के कुछ लोगों की हुई पहचान


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हिंसा करने वाली भीड़ का हिस्सा रहे प्रदेश के कई किसानों को चिह्नित किया है। इस क्रम में दिल्ली पुलिस यूपी ने कुल पांच जिलों के चिह्नित किसानों को नोटिस भी भेजा है। बागपत में नौ किसानों को अब तक नोटिस मिल चुका है। 

इन्हें बयान दर्ज करने के लिए दिल्ली के सीमापुरी पुलिस स्टेशन तलब किया गया है। नोटिस देने के मामले में यूपी पुलिस दिल्ली पुलिस का सहयोग कर रही है।

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा की जांच के तहत दिल्ली पुलिस ने वीडियो फुटेज कर किसानों को चिन्हित करने की कवायद शुरू की है। इस पड़ताल में यूपी के कई किसानों को चिन्हित किए जाने की जानकारी सामने आई है। इनमें कई वीडियो दिल्ली के नागरिकों ने मुहैया कराए हैं। 

दिल्ली पुलिस का कहना है कि वह इन फुटेज से हासिल साक्ष्य को उन्नत फोरेंसिक सॉफ्टवेयर की मदद से इसे पुख्ता सबूत के तौर पर कोर्ट में पेश करेगी। मालूम हो कि हिंसा में शामिल रहे 50 से ज्यादा लोगों की तस्वीरें भी पुलिस जारी कर चुकी है और कई की गिरफ्तारी भी हो चुकी है। 
सूत्र बताते हैं किदिल्ली पुलिस ने बागपत, शामली, मुजफ्फरनगर, शाहजहांपुर व लखीमपुर खीरी के कई ऐसे लोगों को चिह्नित किया है जो किसान के रूप में दिल्ली गए हुए थे और गणतंत्र दिवस के मौके पर हुई हिंसा करने वाली भीड़ का हिस्सा थे। 

दिल्ली पुलिस द्वारा बीते शुक्रवार को बागपत में जिनको नोटिस जारी किया गया है उनमें वहां की देश खाप के सदस्य बृजपाल सिंह का नाम भी शामिल है। 

बृजपाल सिंह 31 जनवरी को आयोजित उस महापंचायत के आर्गनाइजर बताए जा रहे हैं जिसमें गाजीपुर व सिंघु बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों का समर्थन करने का फैसला किया गया था। प्रदेश के एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने इस बाबत सवाल पर कहा कि इस मामले में दिल्ली पुलिस को जो भी सहयोग अपेक्षित होगा वह दिया जाएगा।

दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हिंसा करने वाली भीड़ का हिस्सा रहे प्रदेश के कई किसानों को चिह्नित किया है। इस क्रम में दिल्ली पुलिस यूपी ने कुल पांच जिलों के चिह्नित किसानों को नोटिस भी भेजा है। बागपत में नौ किसानों को अब तक नोटिस मिल चुका है। 

इन्हें बयान दर्ज करने के लिए दिल्ली के सीमापुरी पुलिस स्टेशन तलब किया गया है। नोटिस देने के मामले में यूपी पुलिस दिल्ली पुलिस का सहयोग कर रही है।

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा की जांच के तहत दिल्ली पुलिस ने वीडियो फुटेज कर किसानों को चिन्हित करने की कवायद शुरू की है। इस पड़ताल में यूपी के कई किसानों को चिन्हित किए जाने की जानकारी सामने आई है। इनमें कई वीडियो दिल्ली के नागरिकों ने मुहैया कराए हैं। 

दिल्ली पुलिस का कहना है कि वह इन फुटेज से हासिल साक्ष्य को उन्नत फोरेंसिक सॉफ्टवेयर की मदद से इसे पुख्ता सबूत के तौर पर कोर्ट में पेश करेगी। मालूम हो कि हिंसा में शामिल रहे 50 से ज्यादा लोगों की तस्वीरें भी पुलिस जारी कर चुकी है और कई की गिरफ्तारी भी हो चुकी है। 



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *