प्रतापगढ़ से नोएडा आ रही महिला के साथ चलती बस में Rape, केस दर्ज

नोएडा. उत्तर प्रदेश के नोएडा (NOIDA) में एक महिला के साथ चलती बस में रेप की घटना हुई है.  प्रतापगढ़ (Pratapgarh) से प्राइवेट बस (Private Bus) से बच्चों के साथ नोएडा आ रही एक महिला के साथ बस के ड्राइवर और कंडक्टर ने इस घटना को अंजाम दिया है. इसके बाद ड्राइवर बस लेकर फरार हो गया. नोएडा पहुंचने पर महिला ने अपने साथ हुई घटना के बारे में अपने पति को बताया. पति ने सेक्टर 20 थाना पुलिस को शिकायत की. इसके बाद पुलिस ने बस को बरामद कर लिया है, एक की गिरफ्तारी हो गई है और पुलिस मुकदमा दर्ज कर जांच की बात कह रही है.

सीट देने के बहाने ड्राइवर ने दिया घटना को अंजाम

पीड़ित महिला ने बताया कि ड्राइवर ने पहले उसे आगे स्लीपर सीट दी. इसके बाद वह और पैसे मांगने लगा. महिला ने कहा कि आप मुझे जहां उतारेंगे, वहां मेरा पति मिलेंगे, वह पैसे दे देंगे. उसके बाद उसने सबसे पीछे वाली सीट पर ले जाकर बिठा दिया, वहां कोई नहीं था. इसके बाद ड्राइवर थोड़ी देर बाद आया और मेरे साथ जोर-जबरदस्ती करने लगा. उसने मेरा हाथ बांध दिया और गलत काम किया. साथ ही बोला कि ज्यादा चिल्लाओगी तो जान से मार दूंगा. मेरे दो बच्चे हैं, मैं डर गई थी. मैं कुछ नहीं बोल पाई. इसके बाद कंडक्टर और एक और लड़के ने कहा पैसा ले लीजिए और बात खत्म कर दीजिए.

पति को फोन पर दी सूचना, ड्राइवर बस छोड़कर हुआ फरार

इसके बाद महिला ने अपने पति को फोन पर आपबीती बता दी. इसके बाद इन्होंने मुझे बस से उतार दिया और उसी दौरान मेरा पति और एक और लड़का बस पर चढ़ गए. मैं बस के पीछे-पीछे रिक्शा से गई. सेक्टर 62 में ड्राइवर चलती बस से कूदकर भाग गया. पीड़िता ने कहा कि वह पहली बार आई है, उसे नहीं पता कि किस जगह उसके साथ ये घटना हुई. उसने बताया कि बस में 10 से 12 लोग थे.

केस दर्ज कर लिया गया है, एक गिरफ्तार, जांच जारी: डीसीपी 

मामले में डीसीपी महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला ने बताया कि आज सुबह पुलिस को एक चलती बस में रेप की घटना की सूचना प्राप्त हुई थी. ये घटना रात में चलने वाली एसी स्लीपर बस की है, जो प्रतापगढ़ से गौतमबुद्धनगर आ रही थी. पीड़िता द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार बस जब लखनऊ से मथुरा के रास्ते पर थी, तो उस दौरान रात के समय ये घटना घटी है. सूचना प्राप्त होने पर तुरंत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. एफआईआर में नामित अभियुक्तों में से एक की गिरफ्तारी कर ली गई है, बस को सीज कर दिया गया है. बचे हुए नामित अभियुक्तों और बस के मालिक की गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना कर दी गई हैं. पीड़िता का मेडिकल जांच मेडिकल बोर्ड से कराई जा रही है. साथ ही बस में सह यात्रियों को ढूंढकर बयान किए जा रहे हैं, ताकि मामले में जल्द से जल्द चार्जशीट दाखिल हो और अभियुक्तों को सजा मिले.

credit

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *