Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

Haridwar Kanwar Yatra 2021 News; Uttarakhand Coronavirus | Har ki Pauri Sealed For Kanwariyas From July 24 To August 6 | कांवड़ियों के लिए शहर में नो एंट्री, रोकने के लिए पुलिस तैनात; लेकिन टूरिस्ट आ-जा सकेंगे


  • Hindi News
  • National
  • Haridwar Kanwar Yatra 2021 News; Uttarakhand Coronavirus | Har Ki Pauri Sealed For Kanwariyas From July 24 To August 6

हरिद्वार6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
रविवार से सावन माह लग रहा है। इसी के साथ कांवड़ यात्रा शुरू होती है। -फाइल फोटो - Dainik Bhaskar

रविवार से सावन माह लग रहा है। इसी के साथ कांवड़ यात्रा शुरू होती है। -फाइल फोटो

सावन शुरू होने से पहले उत्तराखंड पुलिस ने हरिद्वार को सील कर दिया है। पुलिस का कहना है कि कांवड़ यात्रा के लिए किसी को शहर में नहीं आने दिया जाएगा। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर राज्य सरकार ने कांवड़ यात्रा रद्द कर दी थी, जिसके बाद अब हरिद्वार को सील किया गया है।

सावन के साथ कांवड़ यात्रा भी रविवार से शुरू हो रही है। उससे पहले कांवड़ियों के लिए हर की पौड़ी गंगा घाट को 24 जुलाई से 6 अगस्त तक सील कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, दिल्ली और हरियाणा के अधिकारियों ने हरिद्वार में हुई एक बैठक में यह फैसला लिया था। सावन का महीना 22 अगस्त तक चलेगा।

गुरु पूर्णिमा के पर हर की पौड़ी घाट पर गंगा नदी में डुबकी लगाते श्रद्धालु।

गुरु पूर्णिमा के पर हर की पौड़ी घाट पर गंगा नदी में डुबकी लगाते श्रद्धालु।

हर साल लाखों कांवड़िए गंगा जल लाने के लिए कांवड़ यात्रा निकालते हैं।

हर साल लाखों कांवड़िए गंगा जल लाने के लिए कांवड़ यात्रा निकालते हैं।

पर्यटकों के लिए नहीं है यह बैन
उत्तराखंड के DGP के बताया कि, कांवड़ यात्रा को राज्य सरकार ने बैन किया है, ऐसे में किसी भी व्यक्ति काे उत्सव मनाने के लिए हरिद्वार में एंट्री नहीं दी जाएगी। यह नियम बसों और ट्रेनों पर भी लागू होता है। उन्होंने कहा कि राज्य के दूसरे इलाकों से आने वाले पर्यटकों को नहीं रोका जाएगा। बशर्ते उनके पास कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट हो और हरिद्वार आने से पहले उन्होंने स्मार्ट सिटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया हो।

नियम नहीं माना तो होगी कार्रवाई
DGP ने कहा कि, हरिद्वार के बॉर्डर पर सेना तैनात की गई है। उन्हें निर्देश दिए गए हैं कि हरिद्वार की तरफ आने वाले लोगों से वापस जाने को कहें। अगर कोई व्यक्ति नियम नहीं मानेगा, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि, अगर कोई व्यक्ति नियमों के दायरे में रहकर जल लेने के लिए टैंकर भेजता है, तो हम गंगाजल एकत्र करने में उसकी मदद करेंगे।

2016 में उत्तर प्रदेश के फकीर चंद्र अपनी 101 साल की मां को लेकर कांवड़ यात्रा पर गए थे।

2016 में उत्तर प्रदेश के फकीर चंद्र अपनी 101 साल की मां को लेकर कांवड़ यात्रा पर गए थे।

कोरोना महामारी के चलते लगातार दूसरे साल उत्तराखंड सरकार ने कांवड़ यात्रा रद्द की है।

कोरोना महामारी के चलते लगातार दूसरे साल उत्तराखंड सरकार ने कांवड़ यात्रा रद्द की है।

चार राज्यों ने लगाया है कांवड़ यात्रा पर बैन
हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु सावन के महीने में कांवड़ यात्रा निकालते हैं। कांवड़िए उत्तराखंड के हरिद्वार, गौमुख और गंगोत्री से और बिहार के सुल्तानगंज से गंगा नदी का जल एकत्र करते हैं, जिसे भगवान शिव पर अपर्ण किया जाता है। कोरोना के चलते यह लगातार दूसरा साल है जब उत्तराखंड सरकार ने कांवड़ यात्रा पर रोक लगाई है। उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड ने भी यात्रा पर बैन लगाया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *