प्रवासी मजदूरों की आवाजाही के दौरान केंद्र के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन हो : गृह मंत्रालय

LOCKDOWN

नई दिल्ली: सभी राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों को लॉकडाउन के कारण फंसे हुए प्रवासी कामगारों, छात्रों और तीर्थयात्रियों की देश के अंदर आवाजाही के लिए गृह मंत्रालय की तरफ से जारी नवीनतम दिशानिर्देश का सख्ती से पालन करना होगा। केंद्र सरकार ने बुधवार को नए दिशानिर्देश जारी कर राज्यों को फंसे हुए छात्रों, प्रवासी कामगारों, पर्यटकों और तीर्थयात्रियों को उनके गृह प्रदेश या गंतव्यों तक दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करते हुए ले जाने की इजाजत दे दी थी। ये दिशानिर्देश फंसे हुए लोगों की आवाजाही के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के उद्देश्य से तैयार किये गए हैं।

प्रेस ब्रीफिंग के दौरान यह पूछे जाने पर कि कुछ राज्यों और अन्य लोगों की मांग के अनुरूप क्या विशेष ट्रेनों और निजी वाहनों की इजाजत भी इन लोगों के परिवहन के लिए दी जाएगी, केंद्रीय गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव पुण्य सलीला श्रीवास्तव ने कहा कि अभी जारी किए गए आदेश ‘बसों के इस्तेमाल और लोगों के समूह’ के लिए हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या 3 मई के बाद ई-कॉमर्स ऐक्टिविटीज को फिर से शुरू किया जाएगा, श्रीवास्तव ने कहा, ‘हमें नए आदेशों के आने का इंतजार करना चाहिए।’ 3 मई को देशव्यापी लॉकडाउन की अवधि खत्म हो रही है।

श्रीवास्तव ने गृह मंत्रालय की तरफ से आयोजित नियमित प्रेस ब्रीफिंग में कहा, ‘आवाजाही की व्यवस्था करते समय राज्य सरकारों को कुछ निश्चित बातों का ध्यान रखना होगा। सभी राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों को नोडल अधिकारी तैनात करने होंगे जो ऐसे फंसे हुए लोगों के लिए मानक व्यवस्था तैयार करेगा।’ उन्होंने कहा, ‘उन्हें ऐसे लोगों को रजिस्टर करना होगा और संबंधित राज्यों को सड़क मार्ग से इनका आवागमन सुनिश्चित करने के लिये आपस में चर्चा करनी होगी।’

उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति की जांच की जाएगी और जिन लोगों में संक्रमण के लक्षण नहीं होंगे, उन्हें जाने की इजाजत दी जाएगी। उन्होंने कहा कि यात्रा के लिये बसों का इंतजाम किया जाएगा और इन गाड़ियों को सैनिटाइज किया जाएगा तथा बसों में यात्रियों के बैठने की व्यवस्था करते समय सामाजिक दूरी पर सख्ती से अमल किया जाएगा। अधिकारी ने गृह मंत्रालय के आदेश का उल्लेख करते हुए कहा कि पारगमन मार्ग (ट्रांजिशन रूट) में आने वाले सभी राज्य ऐसे आवागमन की इजाजत देंगे। लॉकडाउन में फंसे हैं तो कैसे जाएं घर? जानें जरूरी बातेंकेंद्र सरकार ने लॉकडाउन के दौरान फंसे लोगों को कुछ शर्तों के साथ अपने-अपने घर जाने की इजाजत दे दी है। इसकी व्यवस्था संबंधित राज्य करेंगे। अब लोगों के मन में कई सवाल पैदा हो रहे हैं कि किन लोगों को जाने की इजाजत है और किनको नहीं? यहां दूर करें अपना कंफ्यूजन…

श्रीवास्तव ने कहा कि गंतव्य पर पहुंचने के बाद स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारी यात्रियों की जांच करेंगे और अगर उन्हें संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटर्स में रखने की जरूरत नहीं होगी तो उन्हें 14 दिनों तक घर पर पृथक-वास की इजाजत दी जाएगी। यात्रियों की नियमित रूप से स्वास्थ्य जांच की जाएगी और उनकी निगरानी की जाएगी। उन्होंने कहा कि यात्रियों को ‘आरोग्य सेतु’ ऐप के इस्तेमाल के लिये प्रोत्साहित किया जाएगा। श्रीवास्तव ने कहा, ‘सभी राज्यों को सख्ती से इन दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा।’

Source

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media

Most Popular

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.
On Key

Related Posts

Prophet’s Message: To follow the path of education means to follow the path of Allah | पैगंबर साहब का संदेश: शिक्षा का रास्ता अपनाने का मतलब है अल्लाह के रास्ते पर चलना

4 घंटे पहले कॉपी लिंक मोहम्मद साहब ने कहा है कि रहम दिली ईमान की निशानी है, जिसमें रहम नहीं उसमें ईमान नहीं। इस्लामिक कैलेंडर

Today History for October 29th/ What Happened Today | 100 Glorious Years of Jamila Millia Islamia | India Thrid President Zakir Hussain And His Contribution In Jamil Millia Islamia | Delhi Blasts 2005 killed 60 People and Injured Over 200 | जामिया मिल्लिया इस्लामिया के 100 साल, जिसके लिए महात्मा गांधी भीख मांगने को तैयार थे

Hindi News National Today History For October 29th What Happened Today | 100 Glorious Years Of Jamila Millia Islamia | India Thrid President Zakir Hussain

Sun will remain in the constellation of Rahu till 6 November, tense time for seven zodiac signs including Aquarius | 6 नवंबर तक सूर्य रहेगा राहु के नक्षत्र में, कुंभ सहित सात राशियों के लिए है तनाव वाला समय

2 दिन पहले कॉपी लिंक सूर्य के नक्षत्र परिवर्तन से कुछ लोगों में बढ़ सकता है चिढ़चिढ़ापन, जॉब और बिजनेस के कुछ फैसले भी गलत