Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

In Madhya Pradesh, the hot summer heat is mercury in many parts of Himachal; Water-logged drylands in Jharkhand | जैसलमेर में पारा 40 डिग्री पहुंचा, MP में भी सितम ढा रही गर्मी; मौसम वैज्ञानिक बोले- इस बार अप्रैल पिछले साल से ज्यादा गर्म रहेगा


  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • In Madhya Pradesh, The Hot Summer Heat Is Mercury In Many Parts Of Himachal; Water logged Drylands In Jharkhand

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
मध्यप्रदेश में गर्मी से राहत के लिए शाम को नौकाविहार करते नजर आए। यहां तापमान 40 डिग्री के करीब पहुंच गया है। - Dainik Bhaskar

मध्यप्रदेश में गर्मी से राहत के लिए शाम को नौकाविहार करते नजर आए। यहां तापमान 40 डिग्री के करीब पहुंच गया है।

अप्रैल के शुरुआती सप्ताह में ही गर्मी ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। राजस्थान में आने वाले दो से तीन दिनों तक हीट वेव को लेकर अलर्ट जारी है। यहां जैसलमेर में पारा 40 डिग्री तक पहुंचा गया है। आने वाले दिनों में तेज आंधी चलने से धूल के गुबार उठने की संभावना है। वहीं मध्यप्रदेश में दिन का तापमान 38.7 डिग्री रहा। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार इस बार अप्रैल पिछली साल की तुलना में अधिक गर्म रहेगा।

झारखंड में गर्मी के कारण जल स्त्रोत सूखने लगे हैं। देश के कई हिस्सों में जहां गर्मी से लोग परेशान हैं, वहीं हिमाचल प्रदेश में मौसम का मिजाज ठंडा रहा। यहां हरिपुरधार में पारा माइनस में होने के कारण बर्फ देखने को मिली। कल्पा और केलांग में भी तापमान माइनस में दर्ज किया गया। आइए जानते हैं 5 राज्यों के मौसम का हाल…

राजस्थान: दोपहर में लू चलने से लोग परेशान
प्रदेश में गर्मी ने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। पिछले दिनों से तापमान में जहां लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। दोपहर के समय लू के थपेड़ों से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। शनिवार को अधिकतम तापमान 40.7 व न्यूनतम तापमान 22.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं मौसम विभाग ने 5-6 अप्रैल से नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हाेने की संभावना भी जताई है।

हीट वेव अलर्ट के साथ ही जल्द पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने की संभावना।

हीट वेव अलर्ट के साथ ही जल्द पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने की संभावना।

मध्य प्रदेश: पिछले साल से ज्यादा तपेगा अप्रैल
इस बार मार्च में रिकॉर्ड तोड़ गर्मी पड़ने के बाद अप्रैल के भी खूब तपने के आसार हैं। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि मिल रहे ट्रेंड के मुताबिक इस बार अप्रैल पिछले साल से ज्यादा तपेगा। पिछले साल अप्रैल के आखिरी दिन सबसे ज्यादा तापमान 40.8 डिग्री दर्ज किया गया था। इस बार मार्च में ही पारा दो बार 40 डिग्री पर पहुंच चुका है। 29 मार्च को पारा 41 डिग्री पर पहुंच गया था। इस दिन लू भी चली थी। यह मार्च में अब तक की गर्मी का ऑल टाइम रिकॉर्ड रहा था।

तेज धूप से बचने के लिए पाइप में बैठकर आराम करता मजदूर।

तेज धूप से बचने के लिए पाइप में बैठकर आराम करता मजदूर।

हरियाणा: दूसरे सप्ताह में होगी गर्मी की दस्तक
पहाड़ों से आ रहीं उत्तरी हवाओं ने फिलहाल राजस्थान से आने वाली लू का रास्ता रोक दिया है। अभी तीन दिन लू के आसार नहीं हैं। अप्रैल के दूसरे सप्ताह में प्रदेश में गर्मी का प्रकोप बढ़ने लगेगा। इसी दौरान लू चलने के आसार बन सकते हैं। फिलहाल पहाड़ों में हो रही बर्फबारी के कारण सूबे के लोगों को गर्मी से राहत मिली हुई है। रात का तापमान सामान्य से 8 डिग्री तक कम चल रहा है।

फिलहाल पहाड़ों में हो रही बर्फबारी के कारण सूबे के लोगों को गर्मी से राहत मिली हुई है। रात का तापमान सामान्य से कम चल रहा है।

फिलहाल पहाड़ों में हो रही बर्फबारी के कारण सूबे के लोगों को गर्मी से राहत मिली हुई है। रात का तापमान सामान्य से कम चल रहा है।

झारखंड: बादलों ने दिलाई गर्मी से राहत
रांची और आसपास के जिलाें में दोपहर में बादल रहने के कारण गर्मी से थोड़ी राहत मिली। मौसम वैज्ञानिक के मुताबिक, लोकल सिस्टम की वजह से बादल का पूर्वानुमान पहले ही जारी किया गया था। 4 से 6 अप्रैल तक आसमान साफ रहेगा। रांची का अधिकतम तापमान रविवार को 37 से 38 डिग्री और न्यूनतम 21 से 22 डिग्री रहने की संभावना जताई गई है।

प्रसिद्ध जोन्हा जलप्रपात शनिवार को सूख गया। इस वजह से यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या भी बहुत कम हो गई है।

प्रसिद्ध जोन्हा जलप्रपात शनिवार को सूख गया। इस वजह से यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या भी बहुत कम हो गई है।

हिमाचल प्रदेश: प्रदेश की रातें हुईं ठंडी
प्रदेश में दिन के समय भले ही गर्मी अपना अहसास दिला रही हाे, लेकिन शाम ढलते ही यहां पर ठिठुरन बढ़ने लगती है। पिछले तीन-चार दिनाें से प्रदेश की रातें दिसंबर-जनवरी की तरह ठंडी हाे रही हैं। हरिपुरधार में रात का तापमान माइनस 2 डिग्री तक पहुंच गया है।

वहीं बिलासपुर और हमीरपुर का न्यनूतम तापमान सामान्य से सबसे ज्यादा 7 डिग्री सेल्सिय कम चल रहा है। यहां का न्यूनतम तापमान 5 और 6 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया। कल्पा और केलांग का न्यूनतम तापमान भी माइनस 3 डिग्री सेल्सियस तक चला गया है। साथ ही शिमला का न्यूनतम तापमान 7.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है।

हरिपुरधार में जमी बर्फ की परत। इस दौरान यहां रात का तापमान माइनस 2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

हरिपुरधार में जमी बर्फ की परत। इस दौरान यहां रात का तापमान माइनस 2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *