India has violated the LAC 50 times, surrounded by VK Singh, Rahul said – dismiss the government | राहुल ने कहा- मंत्री को बर्खास्त करें; 2 दिन पहले वीके सिंह बोले थे- भारत ने 50 बार LAC का अतिक्रमण किया


  • Hindi News
  • National
  • India Has Violated The LAC 50 Times, Surrounded By VK Singh, Rahul Said Dismiss The Government

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली41 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
वीके सिंह का बयान भारत की कूटनीति के लिए भी खतरा पैदा कर सकता है, क्योंकि गलवान में हुए खूनी संघर्ष के बाद भारत ने LAC पर अपनी तरफ से एकतरफा स्थिति कोे बदलने से इनकार किया था। - Dainik Bhaskar

वीके सिंह का बयान भारत की कूटनीति के लिए भी खतरा पैदा कर सकता है, क्योंकि गलवान में हुए खूनी संघर्ष के बाद भारत ने LAC पर अपनी तरफ से एकतरफा स्थिति कोे बदलने से इनकार किया था।

केंद्रीय सड़क परिवहन राज्य मंत्री और पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह का एक बयान उनके गले की हड्‌डी बन गया है। उन्होंने रविवार को तमिलनाडु के मदुरै में कहा था कि अगर चीन ने लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर सीमा का 10 बार अतिक्रमण किया है, तो भारत ने कम से कम पचास बार LAC पर अतिक्रमण किया होगा।

इस पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने भी वीके सिंह पर निशाना साधा। राहुल ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘भाजपा के मंत्री चीन को भारत के खिलाफ केस करने का मौका क्यों दे रहे हैं। उन्हें बर्खास्त करना चाहिए। अगर उन्हें बर्खास्त नहीं जाता तो इसका मतलब हर जवान का अपमान होगा।’

सिंह के बयान के बाद चीन हुआ हमलावर
वीके सिंह के बयान को चीन ने लपकने का मौका नहीं छोड़ा। चीनी विदेश मंत्रालय ने सिंह के बयान का हवाला देते हुए कहा, यह भारत के द्वारा अनजाने में मानी गई गलती है। ऐसे में LAC पर चीन की सेना की मौजूदगी सही है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेन्बिन का कहना है कि भारत बार-बार LAC पर ‘बॉर्डर प्रोटोकॉल’ का उल्लंघन करता आ रहा है, जिसकी वजह से दोनों देशों की सीमा पर टकराव की स्थिति पैदा हो रही है। भारत से अनुरोध है कि वह समझौते का पालन करे, ताकि सीमा पर शांति कायम हो सके।

लद्दाख में 2019 से जारी है गतिरोध
लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर साल 2019 से गतिरोध जारी है। यहां गलवान घाटी में जून 2019 को दोनों देशों के जवानों के बीच खूनी संघर्ष हुआ था। इसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे, वहीं चीन के 40 से ज्यादा जवानों के मारे जाने की खबर थी। 25 जून 2019 को भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा था कि, भारत ने LAC पर कभी भी एकतरफा स्थिति को बदलने की कोशिश नहीं की।



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *