Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

Lucknow Got 6198 Vial Vaccine


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

स्टेट डिपो से लखनऊ को मिली 6198 वायल वैक्सीन, हर वायल में है 10 डोज
लखनऊ। राजधानी को 6198 वायल कोरोना वैक्सीन मिल गई है। एक वॉयल में 10 डोज हैं। इस तरह 61980 डोज दी जा सकेंगी। वैक्सीन को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच ऐशबाग स्थित स्टोर में रखा गया है। राजधानी में वैक्सीन मंगलवार को ही पहुंच गई थी, लेकिन स्टेट डिपो से लखनऊ के हिस्से की वैक्सीन बुधवार दोपहर अलाट की गई। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी दोपहर बाद सिल्वर जुबली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बने स्टेट डिपो से वैक्सीन लेकर ऐशबाग में बने जिले के डिपो में पहुंचे। यहां वैक्सीन रखने के बाद कमरे को सील कर दिया गया है। गुरुवार सुबह अधिकारियों की बैठक होगी। इसके बाद कोल्ड चेन सेंटर को वैक्सीन अलॉट की जाएगी।
टीकाकरण प्रभारी डॉ. एमके सिंह ने बताया कि राजधानी के हिस्से की वैक्सीन मिल गई है। उसे सुरक्षित तरीके से स्टोर में रखा गया है। 16 जनवरी को 16 केंद्रों पर टीकाकरण होगा। अभी तक की तैयारी 1600 लोगों के टीकाकरण की है। इस हिसाब से गुरुवार सुबह कोल्ड चेन सेंटरों को वैक्सीन अलॉट की जाएगी। उन्होंने बताया कि पहले चरण में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का टीकाकरण होना है। इसके तहत 61 अस्पतालों में 200 बूथ तैयार किए गए हैं। लेकिन पहले दिन 16 बूथ पर ही टीकाकरण की तैयारी है। यदि शासन से बूथ घटाने या बढ़ाने का निर्देश होगा तो उसका पालन किया जाएगा। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का टीकाकरण पूरा होने के बाद फ्रंटलाइन वर्कर का टीकाकरण होगा। इसमें अभी तक 27300 लोगों का पंजीकरण हो पाया है। इसमें प्रशासन से जुड़े लोगों की संख्या 5000 है। पुलिस के सात हजार, नगर निगम के 15000 और आपदा प्रबंधन से जुड़े 300 लोग शामिल हैं।
तैयार हैं 21 कोल्ड चेन सेंटर
वैक्सीनेशन को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से 21 कोल्ड चेन सेंटर बनाए गए हैं। यहां सभी तरह की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। गुरुवार सुबह बैठक के बाद संबंधित सेंटरों को वैक्सीन भेजी जाएगी। वैक्सीनेशन प्रभारी डॉ. एमके सिंह ने बताया कि 21 सेंटर से 61 अस्पतालों में वैक्सीन की आपूर्ति करने की रणनीति बनाई गई है। 16 जनवरी को सिर्फ 16 अस्पतालों में टीकाकरण होना है। ऐसे में संभव है कि पांच या सात गोल्ड चेन सेंटर को ही वैक्सीन भेजी जाएगी। अन्य सेंटरों को एक दिन बाद भेजी जाएगी। उन्होंने बताया कि इसका अंतिम फैसला गुरुवार की बैठक के बाद होगा।
0.5 एमएल की होगी एक डोज
कोरोना वैक्सीन की एक डोज 0.5 एमएल की होगी। इसे जिस सिरिंज से लगाया जाएगा, उसे तत्काल नष्ट कर दिया जाएगा। डॉ. एमके सिंह ने बताया कि टीकाकरण टीम को विशेष तरह की ट्रेनिंग दी गई है। हर टीम में 6 लोग मौजूद रहेंगे। वे टीका लगाने के बाद संबंधित लाभार्थी को बगल में बने कमरे में भेजेंगे। जहां 30 मिनट आराम करने के बाद संबंधित लाभार्थी बाहर जा सकेंगे। टीकाकरण कराने वाले लाभार्थियों की जांच के लिए अलग से टीम भी मौजूद रहेगी।
10 टीमें रहेंगी रिजर्व
स्वास्थ्य विभाग ने तय किया है कि टीकाकरण करने वाली 10 टीमें रिजर्व में रहेंगी। किसी भी स्थान पर समस्या आने पर संबंधित टीम को वहां रवाना किया जाएगा। 16 जनवरी को हर सेंटर पर एक एक बूथ चलेगा। इसलिए 16 टीकाकरण टीमें काम करेंगी। इसके अलावा 10 कंट्रोल रूम के संपर्क में रहेंगे। यदि सोमवार को टीकाकरण होता है तो जिस अस्पताल में जितने बूथ बने हैं वहां इतनी टीमें लगाई जाएंगी। इसके अलावा 10 रिजर्व में रहेंगी। किस स्वास्थ्य कर्मी को किस सेंटर पर वैक्सीनेशन कराना है, इसकी जानकारी 15 जनवरी की शाम संबंधित लाभार्थी को मिल जाएगी। सेंटर पर जाने के बाद वैक्सीनेशन ऑफिसर, पुलिस कर्मी और एएनएम द्वारा वेरिफाई किया जाएगा। उसके बाद टीकाकरण कच्छ में भेजा जाएगा।
मंडल के जिलों में भेजी गई वैक्सीन
लखनऊ 61980
हरदोई 17400
लखीमपुर खीरी 15650
रायबरेली 11550
सीतापुर 19810
उन्नाव 13821

स्टेट डिपो से लखनऊ को मिली 6198 वायल वैक्सीन, हर वायल में है 10 डोज

लखनऊ। राजधानी को 6198 वायल कोरोना वैक्सीन मिल गई है। एक वॉयल में 10 डोज हैं। इस तरह 61980 डोज दी जा सकेंगी। वैक्सीन को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच ऐशबाग स्थित स्टोर में रखा गया है। राजधानी में वैक्सीन मंगलवार को ही पहुंच गई थी, लेकिन स्टेट डिपो से लखनऊ के हिस्से की वैक्सीन बुधवार दोपहर अलाट की गई। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी दोपहर बाद सिल्वर जुबली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बने स्टेट डिपो से वैक्सीन लेकर ऐशबाग में बने जिले के डिपो में पहुंचे। यहां वैक्सीन रखने के बाद कमरे को सील कर दिया गया है। गुरुवार सुबह अधिकारियों की बैठक होगी। इसके बाद कोल्ड चेन सेंटर को वैक्सीन अलॉट की जाएगी।

टीकाकरण प्रभारी डॉ. एमके सिंह ने बताया कि राजधानी के हिस्से की वैक्सीन मिल गई है। उसे सुरक्षित तरीके से स्टोर में रखा गया है। 16 जनवरी को 16 केंद्रों पर टीकाकरण होगा। अभी तक की तैयारी 1600 लोगों के टीकाकरण की है। इस हिसाब से गुरुवार सुबह कोल्ड चेन सेंटरों को वैक्सीन अलॉट की जाएगी। उन्होंने बताया कि पहले चरण में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का टीकाकरण होना है। इसके तहत 61 अस्पतालों में 200 बूथ तैयार किए गए हैं। लेकिन पहले दिन 16 बूथ पर ही टीकाकरण की तैयारी है। यदि शासन से बूथ घटाने या बढ़ाने का निर्देश होगा तो उसका पालन किया जाएगा। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का टीकाकरण पूरा होने के बाद फ्रंटलाइन वर्कर का टीकाकरण होगा। इसमें अभी तक 27300 लोगों का पंजीकरण हो पाया है। इसमें प्रशासन से जुड़े लोगों की संख्या 5000 है। पुलिस के सात हजार, नगर निगम के 15000 और आपदा प्रबंधन से जुड़े 300 लोग शामिल हैं।

तैयार हैं 21 कोल्ड चेन सेंटर

वैक्सीनेशन को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से 21 कोल्ड चेन सेंटर बनाए गए हैं। यहां सभी तरह की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। गुरुवार सुबह बैठक के बाद संबंधित सेंटरों को वैक्सीन भेजी जाएगी। वैक्सीनेशन प्रभारी डॉ. एमके सिंह ने बताया कि 21 सेंटर से 61 अस्पतालों में वैक्सीन की आपूर्ति करने की रणनीति बनाई गई है। 16 जनवरी को सिर्फ 16 अस्पतालों में टीकाकरण होना है। ऐसे में संभव है कि पांच या सात गोल्ड चेन सेंटर को ही वैक्सीन भेजी जाएगी। अन्य सेंटरों को एक दिन बाद भेजी जाएगी। उन्होंने बताया कि इसका अंतिम फैसला गुरुवार की बैठक के बाद होगा।

0.5 एमएल की होगी एक डोज

कोरोना वैक्सीन की एक डोज 0.5 एमएल की होगी। इसे जिस सिरिंज से लगाया जाएगा, उसे तत्काल नष्ट कर दिया जाएगा। डॉ. एमके सिंह ने बताया कि टीकाकरण टीम को विशेष तरह की ट्रेनिंग दी गई है। हर टीम में 6 लोग मौजूद रहेंगे। वे टीका लगाने के बाद संबंधित लाभार्थी को बगल में बने कमरे में भेजेंगे। जहां 30 मिनट आराम करने के बाद संबंधित लाभार्थी बाहर जा सकेंगे। टीकाकरण कराने वाले लाभार्थियों की जांच के लिए अलग से टीम भी मौजूद रहेगी।

10 टीमें रहेंगी रिजर्व

स्वास्थ्य विभाग ने तय किया है कि टीकाकरण करने वाली 10 टीमें रिजर्व में रहेंगी। किसी भी स्थान पर समस्या आने पर संबंधित टीम को वहां रवाना किया जाएगा। 16 जनवरी को हर सेंटर पर एक एक बूथ चलेगा। इसलिए 16 टीकाकरण टीमें काम करेंगी। इसके अलावा 10 कंट्रोल रूम के संपर्क में रहेंगे। यदि सोमवार को टीकाकरण होता है तो जिस अस्पताल में जितने बूथ बने हैं वहां इतनी टीमें लगाई जाएंगी। इसके अलावा 10 रिजर्व में रहेंगी। किस स्वास्थ्य कर्मी को किस सेंटर पर वैक्सीनेशन कराना है, इसकी जानकारी 15 जनवरी की शाम संबंधित लाभार्थी को मिल जाएगी। सेंटर पर जाने के बाद वैक्सीनेशन ऑफिसर, पुलिस कर्मी और एएनएम द्वारा वेरिफाई किया जाएगा। उसके बाद टीकाकरण कच्छ में भेजा जाएगा।

मंडल के जिलों में भेजी गई वैक्सीन

लखनऊ 61980

हरदोई 17400

लखीमपुर खीरी 15650

रायबरेली 11550

सीतापुर 19810

उन्नाव 13821



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *