Man Arrested For Blackmailing Girls By Cyber Team In Lucknow. – लड़कियों को ब्लैकमेल कर मांगता था 5 से 20 हजार रुपये, अकाउंट हैक कर करता था खेल, 10 हजार लड़कियों का डाटा मिला


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

साइबर क्राइम टीम की मदद से पुलिस ने पीजीआई इलाके से आठवीं फेल ऐसे शातिर को गिरफ्तार किया, जो छह साल से सैकड़ों युवतियों को ब्लैकमेल कर रहा था। वह लड़की बनकर सोशल मीडिया पर दोस्ती करता और फिर उनकी निजी चैटिंग व फोटो हैक कर लेता। बाद में इन्हें युवतियों को दिखाकर हर महीने पांच से 20 हजार रुपये वसूलता था। जालसाज के पास से 10 हजार युवतियां का डाटा मिला है।

डीसीपी क्राइम पीके तिवारी के मुताबिक मूल रूप से शाहजहांपुर के मस्जिदगंज चौक निवासी विनीत मिश्रा ने लड़की के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना रखी थी। वह फेसबुक और इंस्टाग्राम पर लड़कियों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजता।

दोस्ती होने पर उनकी आईडी हैककर फोटो और चैट का स्क्रीन शॉट ले लेता और उन्हें दिखाकर ब्लैकमेल करता। उसके लैपटॉप में करीब 10 हजार लड़कियों की नितांत निजी क्षणों की फोटो मिली हैं। मामले में पीजीआई थाने में एक युवती ने केस दर्ज कराया था। विनीत युवतियों से सिर्फ चैटिंग से बात करता था।

विनीत ने अलग-अलग युवतियों के नाम से 10 फेसबुक आईडी बना रखी है। उसने बताया कि इससे वह आसानी से लड़कियों को अपनी बातों में फंसा लेता था। विनीत के निशाने पर स्कूली छात्राएं होती थीं, जो अक्सर दोस्तों से फेसबुक के मैसेंजर और इंस्टाग्राम पर खुलकर चैटिंग करती थी। साथ ही फोटो शेयर करने में भी नहीं हिचकती थीं।

लिंक भेजकर हैक करता था आईडी
प्रभारी निरीक्षक पीजीआई आशीष द्विवेदी, साइबर क्राइम सेल के शरीफ खान और अजय प्रताप सिंह के मुताबिक विनीत दोस्ती होने के बाद फेसबुक, इंस्टाग्राम से फोटो डाउनलोड कर लेता था। उसे एक लिंक में अटैच कर युवतियों को भेजता था। इस पर लिखता था आपकी फोटो पॉर्न साइट पर पड़ी है। लिंक खोलने पर युवतियों से जीमेल अकाउंट की डिटेल मांगी जाती। इस पर युवतियां उससे चैटिंग के जरिये बात करती थीं। विनीत भरोसा दिलाकर उनका जीमेल अकाउंट अटैच करवा देता, जिसे पासवर्ड पड़ते ही हैक कर लेता। फिर युवतियों का अकाउंट हैक कर उसमें पड़े मैसेज व फोटो डाउनलोड कर दूसरा लिंक बना लेता।

इंस्पेक्टर रमेश चंद्र पांडेय के मुताबिक विनीत चैटिंग कर बताता था कि यह फोटो पॉर्न साइट पर अपलोड कर दी गई है। उसका एक परिचित इसे हटवा सकता है। इसके लिए पेटीएम व खाते में रुपये मंगवाता था। वहीं, जो युवतियां उसकी बातों में नहीं आती, उन्हें कुछ दिन बाद फोटो वायरल करने की धमकी देता। विनीत ने यू-ट्यूब से आईडी हैक करना सीखा था।

पुलिस के मुताबिक, विनीत मानसिक रूप से बीमार भी है। कई युवतियों से चैटिंग करने के बाद उन पर बात करने के लिए दबाव बनाता था। प्रभारी निरीक्षक आशीष द्विवेदी के मुताबिक उसके मोबाइल पर कई युवतियों से इस तरह की चैटिंग भी मिली है, जिसमें उसने पूरी रात बात करने के लिए दबाव बनाया।

हर महीने वसूलता था रकम
साइबर क्राइम सेल के प्रभारी मथुरा राय के मुताबिक आरोपी एक युवती से हर महीने 5 से 20 हजार रुपये वसूलता था। वहीं, 20 हजार रुपये मिलने के बाद जब भी किसी युवती का नंबर या चैटिंग दिख जाती तो फिर रुपये मांगता। विनीत के मोबाइल में 400 से अधिक युवतियों से रुपये वसूली के रिकॉर्ड भी मिले हैं। वह कभी मोटी रकम नहीं मांगता। सबसे बड़ी रकम 20 हजार रुपये ही थी। रकम खाते में आने के बाद वह कुछ दिन शांत हो जाता। फिर दो से तीन महीने बाद फिर रकम वसूलता।

पूछताछ में विनीत ने बताया कि वह 2015 में ठगी कर रहा है। शुरू में उसे डर लगा, लेकिन किसी के शिकायत न करने पर उसका दुस्साहस बढ़ गया। पुलिस विनीत के खाते की जांच भी करेगी। विनीत के लैपटॉप में कई फोल्डर मिले हैं, जो अलग-अलग युवतियों के नाम से हैं। पुलिस को इनमें युवतियों के फोटो, वीडियो व चैटिंग मिली है।

साइबर क्राइम टीम की मदद से पुलिस ने पीजीआई इलाके से आठवीं फेल ऐसे शातिर को गिरफ्तार किया, जो छह साल से सैकड़ों युवतियों को ब्लैकमेल कर रहा था। वह लड़की बनकर सोशल मीडिया पर दोस्ती करता और फिर उनकी निजी चैटिंग व फोटो हैक कर लेता। बाद में इन्हें युवतियों को दिखाकर हर महीने पांच से 20 हजार रुपये वसूलता था। जालसाज के पास से 10 हजार युवतियां का डाटा मिला है।

डीसीपी क्राइम पीके तिवारी के मुताबिक मूल रूप से शाहजहांपुर के मस्जिदगंज चौक निवासी विनीत मिश्रा ने लड़की के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना रखी थी। वह फेसबुक और इंस्टाग्राम पर लड़कियों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजता।

दोस्ती होने पर उनकी आईडी हैककर फोटो और चैट का स्क्रीन शॉट ले लेता और उन्हें दिखाकर ब्लैकमेल करता। उसके लैपटॉप में करीब 10 हजार लड़कियों की नितांत निजी क्षणों की फोटो मिली हैं। मामले में पीजीआई थाने में एक युवती ने केस दर्ज कराया था। विनीत युवतियों से सिर्फ चैटिंग से बात करता था।


आगे पढ़ें

10 युवतियों के नाम से फेसबुक आईडी



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *