Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

More than 6 lakh people got corona vaccine in last 24 hours, number one country in doing fastest vaccination of citizens | धीमी रफ्तार के बावजूद सबसे तेजी से 17 करोड़ टीके लगाए, पिछले 24 घंटों में सिर्फ 6 लाख लोगों को वैक्सीन लगी


  • Hindi News
  • National
  • More Than 6 Lakh People Got Corona Vaccine In Last 24 Hours, Number One Country In Doing Fastest Vaccination Of Citizens

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
यह तस्वीर गुजरात के अहमदाबाद के सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम की है। यहां हेल्थ वर्कर्स कोरोना का डोज देते हुए। - Dainik Bhaskar

यह तस्वीर गुजरात के अहमदाबाद के सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम की है। यहां हेल्थ वर्कर्स कोरोना का डोज देते हुए।

कोरोना के खिलाफ देशभर में चल रहे वैक्सीनेशन प्रोग्राम में भारत रोजाना नए रिकॉर्ड बना रहा है। भारत में अब तक कुल 17 करोड़ 1 लाख, 53 हजार 432 से भी ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

वैक्सीनेशन के 114वें दिन, यानी कि 9 मई को देशभर में 6 लाख से अधिक लोगों को यह वैक्सीन लगाई गई है। इस दौरान कुल 3 लाख 97 हजार 231 से ज्यादा लोगों को पहली डोज, जबकि 2 लाख 74 हजार, 415 से ज्यादा लोगों को दूसरी डोज लगाई गई है।

इसके अलावा बीते 24 घंटों में कुछ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक भी मौत नहीं हुई। इनमें दमन-दीव, दादरा और नागर हवेली, अरुणाचल प्रदेश और लक्षदीप समूह शामिल हैं।

सबसे तेजी से 17 करोड़ से अधिक नागरिकों का वैक्सीनेशन करने में भारत नंबर-1

इसके साथ ही भारत पूरी दुनिया में सबसे तेजी से 17 करोड़ से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन करने वाला पहला देश बन गया है। देश में वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू होने के बाद से भारत ने यह मुकाम महज 114 दिनों में हासिल किया है। भारत के बाद इस सूची में अमेरिका (115 दिन ) और चीन (119) आते हैं।

बीते 24 घंटों में इतने लोगों को लगी वैक्सीन

देश में बीते 24 घंटे में 18 से 44 साल की उम्र के कुल 2 लाख, 43 हजार, 958 लोगों को वैक्सीन लगाई गई है। इसके अलावा अगर कुल आंकड़ों की बात करें, तो देश में इसी उम्र के 20 लाख, 31 हजार, 854 नागरिकों को 1 मई से शुरू हुए वैक्सीनेशन प्रोग्राम के तीसरे चरण में अब तक वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

इसके अलावा हेल्थ केयर वर्कर्स की श्रेणी में 4,771 नागरिकों को पहला डोज, 7010 को दूसरा डोज लगाया गया है। 45 से 60 साल की उम्र के 89 हजार 291 लोगों को पहला डोज जबकि 1 लाख 33 हजार 264 नागरिकों को दूसरा डोज लगाया गया।

सीनियर सिटिजन की कैटेगरी में 33 हजार 894 लोगों को पहला डोज, जबकि 1 लाख, 13 हजार, 364 लोगों को दूसरा डोज लगाया गया।

हेल्थ केयर वर्कर्स

हेल्थ केयर वर्कर्स की बात करें तो अभी तक कुल 95 लाख 46 हजार 871 लोगों को पहला डोज, जबकि 64 लाख, 71 हजार, 090 लोगों को दूसरा डोज दिया जा चुका है। कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन प्रोग्राम में 1 करोड़, 39 लाख, 71 हजार से भी ज्यादा फ्रंटलाइन वर्कर्स को इस टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है। वहीं इसी कैटेगरी में 77 लाख, 54 हजार, 283 लोगों को दूसरी खुराक भी दी जा चुकी है।

45 से 60 साल की उम्र के इतने लोगों को लगी वैक्सीन

45 से 60 साल की उम्र के नागरिकों की बात करें तो कुल 5 करोड़ 51 लाख, 74 हजार 561 से भी अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगाया जा चुका है, जबकि इसी उम्र के 65 लाख, 55 हजार 714 लोगों को दूसरा डोज भी लगाया जा चुका है।

सीनियर सिटिजन की रही है संपूर्ण भागीदारी

60 साल से ऊपर की उम्र के 5 करोड़, 36 लाख, 72 हजार से भी ज्यादा नागरिकों को वैक्सीन का पहला डोज दिया जा चुका है, जबकि 1 करोड़, 49 लाख, 77 हजार से भी अधिक सीनियर सिटिजन को इस वैक्सीन की दूसरा डोज दिया जा चुका है।

राज्यवार यह रहा आंकड़ा

  • राज्यों की अगर बात करें तो महाराष्ट्र में अब तक 1 करोड़, 46 लाख, राजस्थान में 1 करोड़ 14 लाख, UP में 1 करोड़ 08 लाख, गुजरात में 1 करोड़ 06 लाख से भी ज्यादा लोगों को कोरोना का पहला डोज लगाया जा चुका है। वहीं केंद्रशासित प्रदेशों की सूची की अगर बात करें तो दिल्ली में 30 लाख, पुड्डुचेरी में 1.75 लाख, नागालैंड में 1.72 लाख, लद्दाख में 82 हजार, लक्षदीप में 19 हजार से भी अधिक लोगों को इस वैक्सीन का पहला डोज लगाया जा चुका है।
  • दक्षिण भारत की बात करें तो कर्नाटक में 1.05 करोड़, केरल में 79 लाख, आंध्र प्रदेश में 73 लाख, तमिलनाडु में 65 लाख, ओडिशा में 61 लाख, तेलंगाना में 51 लाख से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन लगाई जा चुकी है।
  • उत्तर-पूर्वी राज्यों की सूची के तहत मणिपुर में 3.30 लाख, मेघालय में 3.42 लाख, त्रिपुरा में 13.95 लाख, अरुणाचल प्रदेश में 2.77 लाख से भी ज्यादा नागरिकों को टीका लगाया जा चुका है।

इन दस राज्यों को मिली 66.79% वैक्सीन

देशभर में कुल वैक्सीन की 66.79% डोज 10 राज्यों को दी गई है, जिसमें महाराष्ट्र (10.56%), राजस्थान (8.29%), उत्तर प्रदेश (7.99%), गुजरात (8.18%), पश्चिम बंगाल (6.99%), कर्नाटक (6.19), मध्य प्रदेश (5.05), केरल (4.66%), बिहार (4.59%) और आंध्र प्रदेश (4.29%) शामिल हैं।

बीते 24 घंटों में इतने लोग ठीक हुए

बीते 24 घंटों में देशभर में कुल 3 लाख 53 हजार 818 लोग ठीक हुए हैं। इसमें से 10 राज्यों से सर्वाधिक 74.38% मरीज स्वस्थ हुए हैं। इन राज्यों के अंतर्गत महाराष्ट्र में सर्वाधिक (60,226), उत्तर प्रदेश (34,636), केरल (29,318), कर्नाटक (31,796), तमिलनाडु (22,381), राजस्थान (16,880), दिल्ली (14,738) पश्चिम बंगाल (18,454), आंध्र प्रदेश (18,832) कोविड मरीज ठीक हुए हैं। जानकारी के लिए बता दें कि बीते 10 दिनों में देश में औसत रिकवरी रेट 3.28 लाख प्रतिदिन है।

राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को 18 करोड़ वैक्सीन दी गईं

10 मई की सुबह 8 बजे तक प्राप्त आंकड़ों के अनुसार देश में अब तक 17 करोड़, 93 लाख से ज्यादा वैक्सीन की खुराकें राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को केंद्र सरकार की तरफ से दी जा चुकी हैं। राज्यों में महाराष्ट्र को सर्वाधिक 1.82 करोड़+, उत्तर प्रदेश को 1 करोड़ 51 लाख+, राजस्थान को 1 करोड़ 47 लाख+, गुजरात को 1 करोड़, 48 लाख+, पश्चिम बंगाल 1 करोड़, 20 लाख+ और कर्नाटक को 1 करोड़, 09 लाख+ से अधिक खुराकें केंद्र सरकार द्वारा मुफ्त दी जा चुकी हैं। इसके अलावा 1 करोड़ 4 लाख 30 हजार से अधिक खुराकें राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के पास फिलहाल उपलब्ध हैं, जबकि 9 लाख से अधिक खुराकों को अगले तीन दिनों में राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों को दिया जाना है।

किस राज्य में कितने डोज उपलब्ध

उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 12 लाख, 70 हजार, 880 डोज, महाराष्ट्र में 7 लाख, 18 हजार, 561 डोज, हरियाणा में 4 लाख, 56 हजार, 988 डोज, मध्य प्रदेश में 6 लाख, 59 हजार, 851 डोज, झारखंड में 4 लाख 33 हजार, 659 डोज, दिल्ली में 4 लाख, 44 हजार, 958 डोज, बिहार में 6 लाख, 28 हजार, 168 डोज और तमिलनाडु में 8 लाख, 78 हजार, 437 डोज फिलहाल उपलब्ध हैं। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास फिलहाल 84 लाख से अधिक टीके उपलब्ध हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *