Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

Mukesh Ambani Antilia Gelatin Case update: looking for Innova car seen in CCTV, police talk with gelatin making company owner. | CCTV में नजर आ रही इनोवा कार की तलाश हुई तेज, जिलेटिन बनाने वाली कंपनी के मालिक से हुई पूछताछ; स्कॉर्पियो के मालिक तक पहुंची पुलिस


  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mukesh Ambani Antilia Gelatin Case Update: Looking For Innova Car Seen In CCTV, Police Talk With Gelatin Making Company Owner.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
वाशी टोल नाके से गुजरती हुई इस इनोवा कार की तलाश तेज हो गई है। माना जा रहा है कि आरोपी इसी में बैठ कर फरार हुए थे। - Dainik Bhaskar

वाशी टोल नाके से गुजरती हुई इस इनोवा कार की तलाश तेज हो गई है। माना जा रहा है कि आरोपी इसी में बैठ कर फरार हुए थे।

सत्यनारायण नुवाल ने बताया,’जिलेटिन की छड़ें हमेशा सीलबंद बक्से में डिस्पैच की जाती हैं और बक्से के ऊपर सारी जानकारी अंकित होती है। यदि बॉक्स टूटा हुआ है और उसके बाद जिलेटिन के रॉड को निकाला गया है तो यह बता पाना मुश्किल है कि इसकी डिलीवरी किसे की गई थी।’

फॉर्म 11 में दर्ज होता है रिकॉर्ड
सत्यनारायण ने बताया कि जो भी जिलेटिन का बॉक्स किसी को डिस्पैच किया जाता है उसकी पूरी जानकारी सरकार द्वारा निर्धारित किए गए फॉर्म इलेवन में दी जाती है। बिना इस फॉर्म को भरे किसी को भी जिलेटिन रॉड डिस्पैच नहीं किया जाता है। जब किसी को भी डिलीवरी देनी होती है उसके लिए परमिशन चीफ कंट्रोलर आफ एक्सप्लोजिव्स की तरफ से आती है। उसके बाद में ही किसी को यह डिलीवरी दी जाती है। उन्होंने यह भी बताया की जिलेटिन किसे भेजा गया है इसकी सारी जानकारी स्थानीय पुलिस स्टेशन और एसपी को दी जाती है।

एंटीलिया के बाहर सुरक्षा को और पुख्ता कर दिया गया है।

एंटीलिया के बाहर सुरक्षा को और पुख्ता कर दिया गया है।

शातिर था कार खड़ी करने वाला
कार खड़ी करने वाले आरोपी ने अपनी पहचान छिपाने के लिए सभी तरह की एहतियात बरती है। सीसीटीवी की नजर से बचने के लिए आरोपी कार खड़ी करने के बाद ड्राइवर की सीट की बजाय दूसरी ओर से निकला। उसने मास्क और टोपी पहन रखी थी, जिससे उसका चेहरा पहचानना मुश्किल है।

इनोवा कार की तलाश हुई तेज
एंटीलिया के बाहर गुरुवार को संदिग्ध कार के बगल से गुजरने वाली इनोवा की पड़ताल तेज हो गई है। माना जा रहा है कि आरोपी इसी कार में बैठकर फरार हो गया था। मामले की जांच कर रही मुंबई क्राइम ब्रांच को मुलुंड टोल प्लाजा का सीसीटीवी फुटेज मिला है, जिसमें रात 3 बजकर 05 मिनट पर सफेद इनोवा कार टोल क्रॉस कर ठाणे शहर में एंट्री करती हुई नजर आ रही है। जिसके बाद ठाणे पुलिस भी इस मामले की जांच में जुट गई है।

अबतक 20 लोगों से हुई पूछताछ
पुलिस अब तक इस मामले में 20 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है। मुंबई पुलिस के प्रवक्ता डीसीपी चैतन्य एस ने बताया कि गांवदेवी पुलिस स्टेशन में मामले में आईपीसी की धारा 286, 465, 473, 506(2), 120(बी) के साथ विस्फोटक सामग्री अधिनियम की धारा 4 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है। अपराध शाखा और आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) के साथ राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) भी मामले की छानबीन में जुटी हुई है।

पत्र में अंबानी परिवार को धमकी
कार से पुलिस ने विस्फोटक के साथ एक बैग बरामद किया था जिसमें अंबानी की क्रिकेट टीम मुंबई इंडियन्स लिखा हुआ था। उस बैग में एक पत्र था जिसमें टाइप किया गया था कि ‘नीता भाभी मुकेश भैया और फैमिली, एक झलक है ये, अगली बार ये सामान पूरा कनेक्ट करके आएगा, तुम्हारी पूरी फैमिली को उड़ाने का इंतजाम हो गया है। संभल जाओ, गुड नाइट।’

आतंकी संगठन के हाथ की आशंका कम
मामले की छानबीन से जुड़े आतंकवाद निरोधक दस्ते के एक अधिकारी ने बताया कि अब तक की छानबीन में जो सबूत मिले हैं उससे लगता है कि यह किसी आतंकी संगठन की हरकत नहीं है। आम तौर कर आतंकी संगठन पत्र में जिम्मेदारी स्वीकार करते हुए अपने संगठन का नाम लिखते हैं, जिससे और दहशत फैले। अब तक मामले में मिले सबूत किसी आतंकी संगठन की ओर इशारा नहीं कर रहे हैं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने माना पुलिस का आभार
इस मामले में रिलायंस इंडस्ट्रीज की ओर से शुक्रवार को एक बयान जारी किया गया। बयान में कहा गया है कि हम जल्द कार्रवाई के लिए मुंबई पुलिस के शुक्रगुजार हैं। हमें भरोसा है कि मुंबई पुलिस जल्द ही अपनी जांच पूरा कर लेगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *