Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

चीन ने अपनी ‘खराब’ टेस्टिंग किट पर भारत को ही दी नसीहत, कहा- न हों पूर्वाग्रह से ग्रसित

China Testing kit

नई दिल्‍ली, पीटीआइ। चीन ने कोरोना वायरस(COVID-19 ) से लड़ रहे जिन-जिन देशों में मास्‍क, पीपीई किट और रैपिड टेस्टिंग किट सप्‍लाई की है, वहां इसमें कोई न कोई दिक्‍कत सामने आई। भारत ने भी चीन से जो रैपिड टेस्टिंग किट मंगवाई गई, उसने उम्मीद के मुताबिक नतीजे नहीं दिए हैं। ऐसे में इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च के द्वारा सभी राज्यों से कहा गया है कि चीन से मंगवाईं गई किट को वापस किया जाए। इस बीच चीन का बयान सामने आया है और उसने उल्टा भारत पर ही लापरवाही का आरोप लगा दिया है। चीन ने मंगलवार को दो चीनी कंपनियों द्वारा बनाई गई रैपिड एंटीबॉडी परीक्षण किट का उपयोग बंद करने के भारतीय चिकित्सा निकाय के फैसले को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि उनके उत्पाद गुणवत्ता मानकों को पूरा करते हैं। साथ ही कहा कि कई अन्य देशों में भी इन्‍हें निर्यात किया गया है।

चीन ने भारत पर ही टेस्टिंग किट के सही इस्‍तेमाल न करने का आरोप लगाया है। नई दिल्ली में स्थित चीनी दूतावास की प्रवक्ता काउंसलर जी रोंग ने कहा कि रैपिड टेस्टिंग किट का सही इस्तेमाल करने के कुछ तरीके हैं। अगर इनका रख-रखाव, ट्रांसपोर्ट और इस्तेमाल में कोई भी गलती होती है, तो इसका असर उसके नतीजों पर निकल सकता है। उन्‍होंने कहा, ‘चीन से निर्यात होने वाले चिकित्सा उत्पादों की गुणवत्ता को प्राथमिकता दी जा रही है। कुछ विशिष्ट व्यक्तियों के लिए चीनी उत्पादों को ‘दोषपूर्ण’ करार देना अनुचित और गैर-जिम्मेदाराना है। इसे पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर नहीं देखना चाहिए।’

जी ने कहा, ‘हम मूल्यांकन परिणामों और आईसीएमआर द्वारा लिए गए निर्णय से काफी चिंतित हैं। वोंडफो और लिवजोन ने साफ किया है कि उनकी टेस्ट किट्स को चीन के राष्ट्रीय चिकित्सा उत्पाद प्रशासन ने प्रमाणित किया है। यह चीन के साथ ही आयातक देशों के गुणवत्ता मानकों को पूरा करते हैं।’ साथ ही उन्‍होंने कहा कि किट्स को पुणे में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआइवी) के माध्यम से आइसीएमआर द्वारा भी मान्य और अनुमोदित किया गया था। यही एंटी बॉडी रैपिड टेस्ट किट को यूरोप, एशिया और लैटिन अमेरिका के कई देशों में निर्यात किया गया है।’

CoronaVirus

जी ने आगे कहा कि बीजिंग को उम्मीद है कि नई दिल्ली चीन की सद्भावना और ईमानदारी का सम्मान करते हुए तथ्यों के आधार पर प्रासंगिक चीनी कंपनियों के साथ समय पर संचार को मजबूत करेगा और इस मामले को यथोचित और उचित रूप से हल करेगा।

गौरतलब है कि भारत ने चीनी कंपनियों को कई हजार टेस्ट किट और लाखों व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) किट का ऑर्डर दिया था। लेकिन किट्स के नतीजे संतोषजनक नहीं आ रहे हैं। ऐसे में इन किट्स के इस्‍तेमाल पर भारत सरकार ने रोक लगा दी है।

credit

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *