Nia Arrested Businessman Of Fake Currency In Gonda. – गोंडा: एनआईए के छापे में नकली नोटों का कारोबारी गिरफ्तार, बांग्लादेश से लाकर यूपी में खपाता था


प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : पीटीआई

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

राष्ट्रीय जॉच एजेंसी (एनआईए) मुम्बई की चार सदस्सीय टीम ने रविवार की रात गोंडा पुलिस के साथ नगवा गांव में छापा मारा। एनआईए और गोंडा पुलिस की संयुक्त टीम ने बांग्लादेश से नकली नोट लाकर यहां खपाने के एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। टीम ने आरोपी को अदालत के समक्ष पेश किया। जहां से ट्रांजिट रिमांड के बाद उसे संग लेकर मुंबई के लिए रवाना हो गई।

थानाध्यक्ष वजीरगंज संतोष कुमार तिवारी ने बताया कि मुंबई में 04 दिसम्बर 2018 को राष्ट्रीय जॉच एजेंसी (एनआईए) की टीम ने मुंबई के भिवंडी में नकली नोट का कारोबार करने वाले गिरोह के आठ सदस्यों को पकड़ा था जबकि एक सदस्य टीम को चकमा देकर फरार हो गया था। जिसकी एनआईए तभी से तलाश कर रही थी।

पकड़े गए गिरोह के सदस्यों से जब एनआईए की टीम ने पूछताछ की तो बड़ा खुलासा हुआ। पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि वह सभी बांग्लादेश से नकली नोट लाकर यहां उसे देश के विभिन्न राज्यों के जनपदों में खपाते हैं। थानाध्यक्ष के मुताबिक पकड़े गए गिरोह के सदस्यों ने एनआईए की टीम को यह भी बताया कि उनका फरार साथी यूपी के गोंडा जनपद के कोतवाली देहात क्षेत्र के मुगलजोत खोरहंसा का रहने वाला मो. शादाब है।

इसके बाद एनआईए की टीम के विवेचक ने मो. शादाब के खिलाफ एनआईए कोर्ट मुंबई में गैर जमानतीय वारंट की अदालत से याचना की। अदालत ने गैर जमानतीय वारंट जारी कराने के बाद इसी सूचना पर रविवार की देर शाम एनआईए मुंबई के निरीक्षक अमूल कडू, उप निरीक्षक विष्णु शिंदे, सहायत उप निरीक्षक मनोज सिंह व कान्सटेबिल अरूण मोरे की टीम गोंडा पहुंची।

एनआईए की टीम ने थानाध्यक्ष वजीरगंज संतोष कुमार तिवारी, उप निरीक्षक जितेन्द्र वर्मा व कान्सटेबिल चन्दन मिश्रा के साथ क्षेत्र के नगवा गांव में छापा मारकर आरोपी मो. शादाब को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए मो. शादाब को एनआईए ने अदालत के समक्ष पेश किया। जहां से ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद से साथ लेकर मुंबई रवाना हो गई।

राष्ट्रीय जॉच एजेंसी (एनआईए) मुम्बई की चार सदस्सीय टीम ने रविवार की रात गोंडा पुलिस के साथ नगवा गांव में छापा मारा। एनआईए और गोंडा पुलिस की संयुक्त टीम ने बांग्लादेश से नकली नोट लाकर यहां खपाने के एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। टीम ने आरोपी को अदालत के समक्ष पेश किया। जहां से ट्रांजिट रिमांड के बाद उसे संग लेकर मुंबई के लिए रवाना हो गई।

थानाध्यक्ष वजीरगंज संतोष कुमार तिवारी ने बताया कि मुंबई में 04 दिसम्बर 2018 को राष्ट्रीय जॉच एजेंसी (एनआईए) की टीम ने मुंबई के भिवंडी में नकली नोट का कारोबार करने वाले गिरोह के आठ सदस्यों को पकड़ा था जबकि एक सदस्य टीम को चकमा देकर फरार हो गया था। जिसकी एनआईए तभी से तलाश कर रही थी।

पकड़े गए गिरोह के सदस्यों से जब एनआईए की टीम ने पूछताछ की तो बड़ा खुलासा हुआ। पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि वह सभी बांग्लादेश से नकली नोट लाकर यहां उसे देश के विभिन्न राज्यों के जनपदों में खपाते हैं। थानाध्यक्ष के मुताबिक पकड़े गए गिरोह के सदस्यों ने एनआईए की टीम को यह भी बताया कि उनका फरार साथी यूपी के गोंडा जनपद के कोतवाली देहात क्षेत्र के मुगलजोत खोरहंसा का रहने वाला मो. शादाब है।

इसके बाद एनआईए की टीम के विवेचक ने मो. शादाब के खिलाफ एनआईए कोर्ट मुंबई में गैर जमानतीय वारंट की अदालत से याचना की। अदालत ने गैर जमानतीय वारंट जारी कराने के बाद इसी सूचना पर रविवार की देर शाम एनआईए मुंबई के निरीक्षक अमूल कडू, उप निरीक्षक विष्णु शिंदे, सहायत उप निरीक्षक मनोज सिंह व कान्सटेबिल अरूण मोरे की टीम गोंडा पहुंची।

एनआईए की टीम ने थानाध्यक्ष वजीरगंज संतोष कुमार तिवारी, उप निरीक्षक जितेन्द्र वर्मा व कान्सटेबिल चन्दन मिश्रा के साथ क्षेत्र के नगवा गांव में छापा मारकर आरोपी मो. शादाब को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए मो. शादाब को एनआईए ने अदालत के समक्ष पेश किया। जहां से ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद से साथ लेकर मुंबई रवाना हो गई।



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *