Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

Nitin Gadkari PMO | PM Narendra Modi Should Make Nitin Gadkari in Charge Of War Against Coronavirus (COVID) Outbreak | PMO पर भरोसा करना बेकार; जंग की कमान नितिन गडकरी को सौंपिये, क्योंकि वो खुद को साबित कर चुके


  • Hindi News
  • National
  • Nitin Gadkari PMO | PM Narendra Modi Should Make Nitin Gadkari In Charge Of War Against Coronavirus (COVID) Outbreak

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि कोविड से निपटने के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर के फ्रेम वर्क की जरूरत है और गडकरी इस मामले में खुद को साबित कर चुके हैं। - Dainik Bhaskar

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि कोविड से निपटने के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर के फ्रेम वर्क की जरूरत है और गडकरी इस मामले में खुद को साबित कर चुके हैं।

कोरोना की दूसरी लहर को रोकने के लिए सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सलाह दी है। भाजपा से राज्यसभा सांसद स्वामी ने कहा कि प्रधानमंत्री को कोविड के खिलाफ लड़ाई की कमान नितिन गडकरी को सौंपनी चाहिए। उन्होंने ट्विटर पर लिखी पोस्ट में ये बात कही।

जब एक यजूर ने गडकरी को कमान सौंपने की वजह पूछी तो स्वामी बोले- कोविड से निपटने के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर के फ्रेम वर्क की जरूरत है और गडकरी इस मामले में खुद को साबित कर चुके हैं।

भारत महामारी के खिलाफ जंग जीतेगा- स्वामी
उन्होंने लिखा- भारत इस महामारी से भी लड़ाई जीतेगा, उसी तरह जैसे मुस्लिम आक्रमणकारियों और ब्रिटिश घुसपैठियों के खिलाफ उसने जीती थी। अगर सख्त कदम नहीं उठाए गए, तो हम तीसरी लहर का भी सामना करेंगे, जिसमें बच्चों पर ज्यादा असर पड़ सकता है। ऐसे में मोदी को कोरोना के खिलाफ लड़ाई गडकरी को सौंप देनी चाहिए। प्रधानमंत्री कार्यालय पर भरोसा करना निरर्थक है।

स्वामी ने सफाई दी- PMO की आलोचना की, PM की नहीं
अपनी टिप्पणी पर स्वामी ने सफाई दी कि उनकी आलोचना के घेरे में PMO है, जो कि एक विभाग है। ये विभाग प्रधानमंत्री खुद नहीं हैं। हालांकि, जब एक यूजर ने स्वामी से कहा कि स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को पद से हटा देना चाहिए, तो उन्होंने इनकार किया। स्वामी ने इससे इनकार किया और कहा- नहीं-नहीं… हर्षवर्धन को भी फ्री हैंड नहीं छोड़ना चाहिए। पर वो इतने विनम्र हैं कि अधिकारियों से सख्ती से नहीं बोल पाते। गडकरी के साथ वो ज्यादा अच्छा काम करेंगे।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *