इमरान खान ने ओसामा को बताया शहीद, कहा- मारे जाने पर दुनिया ने दी हमें गालियां

इस्लामाबाद,  एजेंसियां।   पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान मारे गए अल-कायदा प्रमुख और 9/11 के मास्टरमाइंड ओसामा बिन लादेन को ‘शहीद’ बताकर घिर गए हैं। अपने ही देश में उन्हें आम लोगों और विपक्षी पार्टी की आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। गुरुवार को बजट सत्र के दौरान नेशनल एसेंबली को संबोधित करते हुए इमरान ने कहा कि लादेन के मारे जाने के बाद दुनिया ने हमें गालियां दी। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका का साथ देने के चलते पाकिस्‍तान को काफी जिल्‍लत उठानी पड़ी। मुझे नहीं लगता कि ऐसा कोई देश है, जिसने आतंक के खिलाफ युद्ध का समर्थन किया और उल्‍टे उसको ही  शर्मिदगी झेलनी पड़ी हो।

  • पाकिस्‍तान को जिल्‍लत उठानी पड़ी

पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री ने संसद में कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में जिस तरह से हमने अमेरिका का साथ दिया और पाकिस्‍तान को जो जिल्‍लत उठानी पड़ी… मैं नहीं समझता कि कभी भी किसी मुल्‍क के साथ ऐसा हुआ है कि वह वॉर ऑन टेरर में किसी का साथ दे और उल्‍टे ही उसे बुरा बना दिया जाए। अमेरिका पर निशाना साधते हुए इमरान ने कहा कि यदि अफगानिस्‍तान में वो नाकामयाब होते हैं तो इसके लिए भी हमें जिम्‍मेदार ठहरा देते हैं। मैं खुले तौर पर कहता हूं कि हम पाकिस्‍तानियों के लिए यह वाकया शर्मिंदा करने वाला था।

  • लादेन के मारे जाने पर दुनिया ने हमें गालियां दी 

इमरान ने कहा कि एक दूसरा वाकया भी हुआ कि ओसामा बिन लादेन को अमेरिकन ने ऐबटाबाद में मार दिया… शहीद कर दिया। उसके बाद क्‍या हुआ सारी दुनिया ने हमें गालियां दी। हमको बुरा कहा… हमें बुरा भला कहा… यानी हमारा सहयोगी हमारे ही मुल्‍क में आकर मार रहा है किसी को और हमको बता ही नहीं रहा। इमरान ने यह भी कहा कि अमेरिका की वजह से 70 हजार पाकिस्‍तानी मारे गए हैं। इससे ज्‍यादा जिल्‍लत क्‍या होगी… जो पाकिस्‍तानी बाहर थे उनके ऊपर जो गुजरी उसे बयां नहीं किया जा सकता है… यह 2010 की बात है।

  • पाकिस्‍तान पर ड्रोन हमले होते रहे 
इमरान खान ने आगे कहा कि इसके बाद पाकिस्‍तान पर ड्रोन हमले होते रहे और पाकिस्‍तानी हुकूमत कहती थी कि हम इन हमलों की मजम्‍मत करते हैं। इमरान का यह बयान अमेरिका से पाकिस्‍तान के तल्‍ख होते रिश्‍तों की ओर इशारा कर रहे हैं। इमरान खान का यह बयान एफएटीएफ के उस कदम के बाद सामने आया है जिसमें उसने पाकिस्‍तान को ग्रे लिस्‍ट में बरकरार रखने का फैसला किया है। बदहाली के दौर से गुजर रहे पाकिस्‍तानी अर्थव्‍यवस्‍था के लिए यह किसी झटके से कम नहीं माना जा रहा है।
  • सोशल मीडिया में प्रतिक्रियाओं की बाढ़इमरान की ओर से ओसामा के लिए ‘शहीद’ शब्द का इस्तेमाल किए जाने के तुरंत बाद पाकिस्तान में उनके खिलाफ सोशल मीडिया में प्रतिक्रियाओं की बाढ़ आ गई। किसी ने लिखा कि इमरान की आलोचना के लिए शब्द नहीं मिल रहे हैं तो किसी ने लिखा कि अब भारत और शेष विश्व इस बयान का फायदा उठाएंगे।

         

  •   विपक्ष ने की आलोचना                                                                                                                                                             
  • ओसामा को ‘शहीद’ बताने के लिए विपक्ष ने भी इमरान की आलोचना की है। पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज के नेता ख्वाजा आसिफ ने कहा कि ओसामा बिन लादेन एक आतंकी था और हमारे प्रधानमंत्री उसे शहीद बता रहे हैं। वह हजारों लोगों के नरसंहार के लिए जिम्मेदार था।
  • अमेरिका में दिया था यह बयान 

सनद रहे पिछले साल सितंबर में अमेरिका दौरे पर गए इमरान खान ने कबूला था कि पाकिस्‍तानी सेना और आईएसआई के संबंध अल कायदा एवं अन्य आतंकी समूहों से थे और इन्‍हीं दोनों ने अल कायदा एवं दूसरे आतंकी समूहों को अफगानिस्तान में लड़ने के लिए प्रशिक्षित किया था। तब अमेर‍िका गए इमरान से अमेरिकी थिंक टैंक काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस (CFR) के एक कार्यक्रम में पूछा गया था कि क्‍या पाकिस्‍तान ने इस बात की जांच कराई थी कि ओसामा बिन लादेन पाकिस्‍तान में कैसे रह रहा था।

  • आईएसआई ने दी जेहादियों को ट्रेनिंग 

इमरान खान ने यह भी कहा था कि ISI ने दुनियाभर के मुस्लिम देशों से लोगों को बुलाकर ट्रेनिंग दी थी ताकि वे सोवियत यूनियन के खिलाफ जेहाद कर सकें। इससे पहले इमरान ने कहा था कि पाकिस्तान को ओसामा बिन लादेन की मौजूदगी का पता था। पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने ही सीआईए को ओसामा की मौजूदगी के बारे में बताया था। इसी जानकारी के आधार पर अमेरिका ने लादेन को मारने में सफलता पाई थी। मालूम हो कि अमेरिकी मरीन कमांडो ने ओसामा को 02 मई, 2011 की आधी रात को पाकिस्तान में घुसकर ढेर कर दिया था।

Credit:

        

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

On Key

Related Posts

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का मामा प्रेम प्रकाश पाण्डेय और उसका साथी अतुल दुबे पुलिस से मुठभेड़ में ढेर

चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में विकास दुबे को पकड़ने गई थी पुलिस आठ पुलिसकर्मियों की मौत मरने वालों में सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा

सीएम योगी आदित्यनाथ और डीजीपी आ रहे हैं कानपुर, शहीद पुलिसवालों को श्रद्धांजलि

  सीएम और डीजीपी आ रहे हैं कानपुर: कानपुर मुठभेड़ में मारे गए पुलिसकर्मियों को गॉड ऑफ ऑनर देने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ

subscribe to our 24x7 Khabar newsletter