Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

Pushya Nakshatra on Thursday, you can buy lucky things according to the zodiac on pushya nakshtra | गुरुवार को पुष्य नक्षत्र, राशि अनुसार कर सकते हैं खरीदारी, इसके बाद 28 अक्टूबर को रहेगा गुरु पुष्य


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

गुरुवार, 25 फरवरी को खरीदार का शुभ योग गुरु पुष्य नक्षत्र रहेगा। इसी दिन अमृत सिद्धि और सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेंगे। दोपहर करीब 1.37 बजे तक गुरु पुष्य रहेगा। इसके बाद 28 अक्टूबर को गुरु पुष्य नक्षत्र रहेगा।

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार माघ मास के शुक्ल पक्ष में आने वाले गुरु पुष्य नक्षत्र में किसी भी वस्तु खरीदारी शुभ फल देने वाली होती है। इस नक्षत्र के स्वामी शनि हैं। इस दिन किए गए निवेश से लाभ मिल सकता है। राशि अनुसार जानिए गुरु पुष्य योग में किन क्षेत्रों में निवेश और खरीदारी कर सकते हैं…

मेष

मेष राशि का स्वामी मंगल है। मंगल पृथ्वी का पुत्र है। इसका रक्त वर्ण है। जमीन, मकान, खेती और उससे जुडे उपकरण, मेडिकल से संबंधित उपकरण, वाहन, खनिज, कोयला में निवेश किया जा सकता है। इन लोगों को शेयर, केमिकल, चमड़ा में निवेश करने से बचना चाहिए। पुराना निवेश अटका हो तो हनुमानजी के सामने सरसों को तेल का दीपक जलाएं।

वृषभ

इस राशि का स्वामी शुक्र है। शुक्र चंचल ग्रह है और चंद्र इस राशि में उच्च का होता है। इस राशि के लोगों को अनाज, कपड़ा, चांदी, शकर, चावल, सौंदर्य सामग्री, परफ्यूम, दूध और उससे बने पदार्थ, प्लास्टिक, खाद्य तेल, ऑटो पार्ट्स, वाहन में लगने वाली एसेसरिज, कपडें संबंधी शेयर और रत्नों में निवेश करने या खरीदने से लाभ हो सकता है।

जमीन, खनिज, कोयला, रत्न, सोना, चांदी, स्टील, चमड़ा, आधुनिक यंत्र, विदेशी दवाइयों में निवेश से बचें। पूर्व का निवेश अटका हो तो पूर्णिमा पर चंद्र के लिए घी का दीपक जलाएं।

मिथुन

इस राशि का स्वामी बुध है। बुध चंद्र को अपना शत्रु मानता है। बुध व्यापार करने वालों को लाभ देने वाला ग्रह है। इस राशि के लोगों को सोने में निवेश करना चाहिए। कागज, लकड़ी, पीतल, गेहूं, दालें, कपड़ा, स्टील, प्लास्टिक, तेल, सौंदर्य सामग्री, तेल, सीमेंट, खनिज पदार्थ, पशु, पूजन सामग्री, वाद्य यंत्र आदि का व्यापार, खरीदने या उसमें निवेश करने से लाभ हो सकता है।

चांदी, शकर, चावल, सूखे मेवे, लोहा, इत्र, दवाइयां, पानी से संबंधित पदार्थ में निवेश सोच-समझकर करें। पूर्व का निवेश अटका हो तो सफेद वस्त्रों का दान करें।

कर्क

कर्क राशि का स्वामी चंद्र है। ये राशि व्यवसाय के साथ नौकरी में भी सफल होती है। इस राशि के लोग चांदी, चावल, शकर, कपड़ा उत्पाद करने वाली कंपनियों के शेयर, प्लास्टिक, अनाज, लकडी, बैनर, केबल, फिल्म उद्योग, खाद्य सामग्रियों, आधुनिक उपकरण, बच्चों के खिलोने संबंधित निवेश कर सकते हैं।

तेल, सोना, पीतल, वाहन, दूध से बने पदार्थ, पशु, रत्न, विदेशी दवाई कंपनियों में निवेश सावधानी पूर्वक करें। पूर्व का निवेश अटका हो तो गणेशजी को मिठाई का भोग लगाएं।

सिंह

इस राशि का स्वामी सूर्य है, ये चंद्र का मित्र है। ये लोग सोना, गेहूं, कपड़ा, औषधियां, रत्न, सौंदर्य सामग्री, परफ्यूम, शेयर और जमीन-जायदाद में निवेश कर सकते हैं।

तकनीकी उपकरण, वाहन, फिल्म उद्योग, प्लास्टिक, केबल तार, कागज, खाद्य पदार्थ में निवेश सावधानी से करें। पूर्व का निवेश अटका हो तो हनुमानजी के सामने चमेली का तेल का दीपक लगाएं।

कन्या

इस राशि का स्वामी बुध है। इन लोगों को शिक्षा, सोना, औषधियां, केमिकल, फर्टीलाइजर्स, चमड़े से बने सामान, खेती, खेती के उपकरण में निवेश करना चाहिए। जमीन, चांदी, सीमेंट, ट्रांसपोर्ट, पशु और जल से जुड़े कार्य में निवेश सोच-समझकर करें। पूर्व में कोई निवेश उलझा हो तो गणेश को लड्डू का भोग लगाएं।

तुला

इस राशि का स्वामी शुक्र है। इस राशि के लोग लोहा, सीमेंट, स्टील, दवाइयों, केमिकल, चमड़े, फर्टीलाइजर्स, कपड़ा, तार, कोयला, रत्न, प्लास्टिक, आधुनिक यंत्रों (कंप्यूटर, कैमरे, टेलीविजन आदि बनाने वाली कंपनी) में निवेश कर सकते हैं या खरीद सकते हैं। जमीन, मकान, खेती, खेती संबंधी उपकरण, वस्त्र, में निवेश विशेषज्ञ से परामर्श लेकर करें। पूर्व में निवेश अटका हो तो सूर्य को दूध अर्पण करें।

वृश्चिक

इस राशि का स्वामी मंगल है। चंद्रमा इस राशि में नीच का होता हैं। इस राशि के लिए जमीन, मकान, दुकान, खेती, सीमेंट, रत्न, खनिज, खेती और मेडिकल संबंधित सामग्री, कागज, वस्त्र में निवेश कर सकते हैं या खरीदारी कर सकते हैं। कुंडली में अगर चंद्र पर शनि की दृष्टि हो तो तेल, केमिकल और तरल पदार्थों में निवेश करने से बचें। पूर्व का निवेश अटका हो तो वापस पाने के लिए मंगलवार हनुमान चालीसा का पाठ करें।

धनु

इस राशि का स्वामी गुरु है। गुरु व्यापारियों को लाभ देने वाला ग्रह है। सोने और अनाज का व्यापार में ये ग्रह लाभ पहुंचाता है। इस राशि के लोग आभूषणों, रत्न, सोना, अनाज, कपास, चांदी, शकर, चावल, औषधियां, सौंदर्य सामग्री, दूध से बने पदार्थ में निवेश कर सकते हैं। तेल, केमिकल, खनिज, खदान, कोयला, केबल तार, शीशा, लकड़ी, जमीन, मकान, सीमेंट, लोहे से संबंधित निवेश में लापरवाही न करें। पूर्व का निवेश अटका हो तो सरसों के तेल का दान करें।

मकर

इस राशि का स्वामी शनि है। शनि चंद्र से शत्रुता रखता है। इस राशि के लोगों को लोहा, केबल, तेल, खाद्य सामग्री, इलेक्ट्रॉनिक्स सामान, यंत्र, खनिज पदार्थ, खेती उपकरण, वाहन, मेडिकल के उपकरण, वस्त्र, इत्र, सौंदर्य सामग्री में निवेश करने या खरीदने से लाभ हो सकता है। पूर्व का निवेश अटका हो तो इमली का दान करें।

कुंभ

इस राशि का स्वामी भी शनि ही है और मकर की तरह ही इस राशि के लोग भी लोहा, केबल, तेल, खाद्य सामग्री, इलेक्ट्रॉनिक्स सामान, यंत्र, खनिज, खेती उपकरण, वाहन, मेडिकल के उपकरण, वस्त्र में निवेश कर सकते हैं। पूर्व का निवेश अटका हो तो अदरक का दान करें।

मीन

इस राशि का स्वामी गुरु है। गुरु चंद्र का मित्र है। इस राशि पर वर्तमान में गुरु की दृष्टि है। ये लोग आभूषण, रत्न, सोना, अनाज, कपास, चांदी, शकर, चावल, औषधियां, सौंदर्य सामग्री, दूध से बने पदार्थ, पशुओं का व्यापार और उसमें निवेश करने से लाभ हो सकता है। पूर्व का निवेश अटका हो तो दुर्गा चालीसा का पाठ करें।

ध्यान रखें निवेश करने से पहले किसी विशेषज्ञ से परामर्श अवश्य करें।



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *