कोरोना वायरस से देश ठप, लेकिन समय पर हो सकता है राज्यसभा चुनाव

parliament-session

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए देशभर में सभी तरह की गतिविधियां ठप हो गई हैं, लेकिन राज्यसभा चुनाव पर इसका असर नहीं हुआ है। राज्यसभा चुनाव पहले से निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक 26 मार्च को ही होंगे। चुनाव आयोग के अधिकारियों ने ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ को बताया कि चुनाव को अभी तक टाला नहीं गया है।

चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को बताया, ‘चुनाव होंगे, स्थगित करने के लिए अभी तक कोई आदेश जारी नहीं हुआ है।’ एक अन्य अधिकारी ने कहा कि आयोग की ओर से निर्धारित प्रक्रिया के तहत चुनाव होंगे। यदि चुनाव होते हैं तो एक वृस्तृत प्रक्रिया का पालन किया जाएगा। अभी तक इसे रद्द नहीं किया गया है।

18 सीटों पर होगा मतदान
17 राज्यों की 55 सीटों के लिए 26 मार्च को मतदान होना था, लेकिन 18 मार्च को नाम वापस लेने के लिए निर्धारित समयसीमा के बाद 37 उम्मीदवार निर्विरोध चुन लिए गए। अब 18 सीटों पर ही मतदान की आवश्यकता है। ये सीटें गुजरात, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, राजस्थान और झारखंड की हैं।

तैयारी में जुटे राज्य
विधायकों को चुनाव आयोग के प्रिसाइडिंग ऑफिसर की मौजूदगी में पार्टी के अधिकृत एजेंट को दिखाते हुए ओपन बैलेट पेपर पर अपना वोट डालना होता है। सभी राज्य चुनाव की तैयारी में जुटे हैं। मध्य प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी अरुण कुमार ने बताया कि सरकार के आदेश के मुताबिक एहतियात को ध्यान में रखकर समय पर चुनाव सुनिश्चित किया जाएगा।

उन्होंने कहा, ‘चुनाव अभी तक पूर्व निर्धारित समय के मुताबिक होने हैं। राज्य में एक कार्यवाहक सरकार है और विधायक वोट डालने के योग्य हैं। हम सुनिश्चित करेंगे कि विधायक 1.5 मीटर की दूरी बनाकर बैठें। एक बार में एक ही विधायक वोट डालेंगे।’ उन्होंने यह भी कहा कि विधायकों की सुरक्ष मास्क और सैनिटाइजर भी दिए जाएंगे।

पर्याप्त दूरी बनाते हुए वोटिंग

गुजरात के अतिरिक्त निर्वाचन अधिकारी अशोक मानेक ने भी पुष्टि की कि चुनाव निर्धारित समय पर ही होंगे। उन्होंने कहा, ‘हम केंद्र सरकार की ओर से निर्धारित एहतियात बरतेंगे। मास्क और सैनिटाइजर उपलब्ध कराए जाएंगे और वोटिंग के दौरान पर्याप्त दूरी रखी जाएगी।’ राजस्थान के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने कहा कि यदि चुनाव होते हैं तो हेल्थ एडवाइजरी और निर्देशों का पालन किया जाएगा।

दो पुर्व मुख्य निर्वाचन आयुक्तों ने भी कहा कि एहतियात के साथ इस समय राज्यसभा चुनाव कराए जा सकते हैं। एक पूर्व सीईसी ने कहा, ‘राज्यसभा चुनाव में जनसभा की जरूरत नहीं है। बहुत अधिक लोगों के एकत्रित होने और अधिक भीड़ होने पर संक्रमण का खतरा रहता है। यदि उचित दूरी रखी जाए तो मौजूदा परिस्थिति में भी चुनाव कराए जा सकते हैं। विधायक अपनी गाड़ियों में आएंगे, इसलिए ट्रांसपोर्ट सेवा की कमी से चिंता नहीं है।

Source

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *