Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

Sensitive for Himachal for the coming eight weeks, alert issued for other 8 states also, infection rate is increasing | आने वाले 8 हफ्ते संवेदनशील, संक्रमण दर बढ़ रही; ICMR ने 8 राज्यों को जारी की चेतावनी


  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Sensitive For Himachal For The Coming Eight Weeks, Alert Issued For Other 8 States Also, Infection Rate Is Increasing

शिमलाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
त्योहारी सीजन, उप-चुनावों, टूरिस्ट सीजन को देखते हुए आईसीएमआर की चेतावनी जारी हुई है। - Dainik Bhaskar

त्योहारी सीजन, उप-चुनावों, टूरिस्ट सीजन को देखते हुए आईसीएमआर की चेतावनी जारी हुई है।

ICMR ने हिमाचल प्रदेश समेत अन्य आठ राज्यों के लिए कोविड की तीसरी लहर को लेकर अलर्ट जारी किया है। स्वास्थ्य विभाग और सरकार को अलर्ट करते हुए कहा है कि आने वाले 8 हफ्ते राज्य के लिए बेहद संवेदनशील है। इन्हीं 8 हफ्तों में यह स्थिति क्लियर होगी कि राज्य कोविड-19 की तीसरी लहर से प्रभावित होगा या नहीं। इतना ही नहीं हिमाचल के साथ अन्य 8 जिलों के लिए भी इसी तरह का अलर्ट जारी हुआ है। त्योहारी सीजन, उप-चुनावों, टूरिस्ट सीजन को देखते हुए आईसीएमआर की चेतावनी जारी हुई है।

गौरतलब है कि हिमाचल में स्कूल व कॉलेज भी खुल गए हैं। ऐसे में रोजाना बच्चों के आने का सिलसिला भी शुरू हो चुका है। इसके अलावा त्योहारी सीजन शुरू होने जा रहा है। हिमाचल में नवरात्र में मेलों भी विभिन्न मंदिरों में आयोजन होता है। जहां पर बाहरी राज्यों से लाखों की संख्या में श्रद्धालु माथा टेकने पहुंचते हैं।

श्री नैना देवी, ज्वाला जी, चिंतपूर्णी, चामुंडा देवी, बृजेश्वरी देवी समेत बाबा बालक नाथ और बग्लामुखी में भी नवरात्रों के दिन लाखों की संख्या में श्रद्धालु माथा टेकने के लिए पहुंचते हैं। ऐसे में भीड़ को नियंत्रित करना और कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करवाना प्रशासन और सरकार के लिए चुनौती भरा होगा।

हिमाचल में पर्यटन सीजन भी शुरू हो रहा
आईसीएमआर का यह अलर्ट उस समय आया है जब हिमाचल में पर्यटन सीजन शुरू होने वाला है। अकसर जब त्योहारी सीजन होता है तो पर्यटक हिमाचल का रुख करते हैं। अक्टूबर-नवंबर और दिसंबर तक हिमाचल में काफी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। न्यू ईयर सेलिब्रेशन से लेकर क्रिसमस डे सेलिब्रेशन तक करने के लिए बाहरी राज्यों से पर्यटक हिमाचल पहुंचते हैं, क्योंकि इन दिनों पर्यटकों को यही आस होती है कि वह बर्फबारी का भी लुत्फ उठा लें। इसी को देखते हुए आईसीएमआर ने हिमाचल को अलर्ट जारी किया है।

उपचुनावों में भी बड़ा कोरोना संक्रमण का खतरा
हिमाचल में 4 जगहों पर उपचुनाव होने हैं। जिसमें 3 विधानसभा क्षेत्र और एक लोक सभा की सीट पर चुनाव होना है। ऐसे में चुनावी रैलियां भी होंगी, जनसभाएं भी होगी। जिसमें भीड़ बढ़ेगी और यह भीड़ भी कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को बढ़ावा देगी। ऐसे में प्रशासन और चुनाव आयोग को भीड़ पर नियंत्रण रखना भी एक चुनौती से भरा होगा। हालांकि चुनाव आयोग ने पहले ही रैलियों और जनसभाओं में उमड़ने वाली भीड़ की संख्या निर्धारित की है, लेकिन अब देखना यह है कि क्या पार्टियां इन आदेशों को मानती है या नहीं।

हिमाचल में पर्यटन सीजन शुरू होते ही आईसीएमआर की चेतावनी।

हिमाचल में पर्यटन सीजन शुरू होते ही आईसीएमआर की चेतावनी।

हिमाचल के अलावा इन 8 जिलों को किया है अलर्ट
आईसीएमआर ने हिमाचल के अलावा मिजोरम, हरियाणा, गुजरात, झारखंड, गोवा, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल को अलर्ट किया है। क्योंकि इन 9 राज्यों में संक्रमण दर पिछले कुछ समय में बड़ी है। जिससे कि तीसरी लहर का खतरा बढ़ गया है। अगर संक्रमण दर की बात करें तो मिजोरम की संक्रमण दर 25.1 फीसदी, हरियाणा की 19.1, गुजरात की 16.9, झारखंड 14.3, गोवा 7.3, हिमाचल 3.5, मध्य प्रदेश 2.9, तमिलनाडु 0.9 और पश्चिम बंगाल 0.9 संक्रमण दर के साथ अलर्ट पर है।

स्वास्थ्य विभाग की क्या है तैयारी
आईसीएमआर के अलर्ट के बाद स्वास्थ्य विभाग ने भी अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। सभी जिलों में तैनात चिकित्सा अधिकारियों को सेंपलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग ने यह भी निर्णय लिया है कि चुनावी रैलियों में भी उनकी टीम मौजूद रहेगी जो यहां पर आने वाले कार्यकर्ताओं और समर्थकों के रैंडम कोविड-19 के सैंपल लेगी, ताकि संक्रमण को आगे बढ़ने से रोका जा सके। अगर कोई संक्रमित मिलता है तो उसे तुरंत आइसोलेट किया जा सकेगा। फिलहाल आने वाले 8 हफ्ते हिमाचल के लिए बेहद संवेदनशील है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *