Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

US company Pfizer ready to give 5 crore doses this year, but wants relaxation in regulatory from central government | अमेरिकी कंपनी फाइजर इस साल 5 करोड़ डोज देने को तैयार, लेकिन केंद्र सरकार से नियमों में छूट चाहती है


  • Hindi News
  • National
  • US Company Pfizer Ready To Give 5 Crore Doses This Year, But Wants Relaxation In Regulatory From Central Government

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

देश में कोरोना वैक्सीन की कमी के बीच अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइजर-बायोएनटेक इस साल भारत को 5 करोड़ शॉट्स देने को तैयार है। हालांकि इसमें एक पेंच भी है। सूत्रों के मुताबिक, कंपनी सप्लाई देने को तो तैयार है, लेकिन इसके बदले में वह भारत सरकार से नियमों में छूट चाहती है।

क्या चाहती है फाइजर-बायोएनटेक
रॉयटर्स के मुताबिक, भारत सरकार और फाइजर-बायोएनटेक के बीच वैक्सीन की डील को लेकर कई दौर की बातचीत हो चुकी है। कंपनी ने भी एक बयान जारी कर बताया था कि, भारत के साथ वैक्सीन को लेकर बातचीत चल रही है और जल्द ही इसके नतीजे सामने होंगे।

सूत्रों के मुताबिक, वैक्सीन डील को लेकर मामला एक जगह फंसा हुआ है। दरअसल, फाइजर-बायोएनटेक ने अमेरिका, ब्रिटेन समेत कई सरकारों से कानूनी सुरक्षा का भरोसा मांगा है, अब फाइजर यही मांग भारत में कर रही है। कंपनी यह चाहती है कि फाइजर की वैक्सीन लगने के बाद किसी भी प्रकार का कोई कानूनी पेंच फंसता है तो इसके लिए कंपनी जवाबदेह नहीं होगी। केंद्र सरकार को इसके लिए आगे आना होगा।

वैक्सीन की कमी से नहीं हो पा रहा वैक्सीनेशन
देश में वैक्सीन की भारी कमी है। महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश समेत कई बड़े एवं छोटे राज्यों में वैक्सीनेशन ड्राइव जिस गति से होनी चाहिए वो नहीं हो पा रही है। राज्यों को जितने कोटे की रोज जरूरत है, उतनी सप्लाई उन्हें नहीं मिल पा रही है। ऐसे में कई वैक्सीनेशन सेंटर्स बंद करने पड़े हैं।

उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र ने तो ग्लोबल टेंडर भी बुलाया है, लेकिन अब किसी कंपनी से उन्हें वैक्सीन मिल सके, ऐसा दिख नहीं रहा है। वहीं दिल्ली और पंजाब जैसे राज्यों का कहना है कि वे खुद विदेशी वैक्सीन कंपनियों से बात कर चुके हैं, लेकिन इन कंपनियों ने उन्हें डायरेक्ट सप्लाई से मना कर दिया है। कंपनियां केंद्र सरकार से डील करना चाहती हैं।

देश में अभी तीन वैक्सीन का ही सहारा
देश में अभी कोवैक्सिन और कोवीशील्ड के अलावा रूसी कंपनी स्पूतनिक-वी का इस्तेमाल किया जा रहा है। कोवैक्सिन और कोवीशील्ड का प्रोडक्शन उस स्तर पर नहीं हो पा रहा, जितने में एक बड़ी आबादी को रोज टीका दिया जा सके। रूसी वैक्सीन ने अभी-अभी सप्लाई शुरू की है। जल्द ही तेलंगाना में इसका प्रोडक्शन शुरू होने वाला है।

वहीं केंद्र सरकार ने ऐलान किया है कि इस साल अगस्त से दिसंबर के बीच पूरे देश के लिए वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *