Most Popular

Social Media

Get The Latest Updates

Subscribe To Our Weekly Newsletter

No spam, notifications only about new products, updates.

Uttar Pradesh Bihar Delhi Rain Flood Weather Update Ganga River flowing above danger mark | बिहार में 22 लाख लोग पानी से घिरे, UP में नदी से लगते जिलों में आज भी भारी बारिश का अलर्ट


  • Hindi News
  • National
  • Uttar Pradesh Bihar Delhi Rain Flood Weather Update Ganga River Flowing Above Danger Mark

नई दिल्ली23 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
यह तस्वीर बिहार के मानेर की है। यहां भारी बारिश और बाढ़ की वजह से सड़कें पानी में डूब गई हैं। लोगों को आने-जाने में काफी दिक्कत हो रही है। - Dainik Bhaskar

यह तस्वीर बिहार के मानेर की है। यहां भारी बारिश और बाढ़ की वजह से सड़कें पानी में डूब गई हैं। लोगों को आने-जाने में काफी दिक्कत हो रही है।

मानसून सीजन में भारी बारिश से उत्तर भारत के कई हिस्सों के हालात गंभीर हो गए हैं। पहाड़ों पर भूस्खलन की चुनौती खड़ी हो गई है। वहीं, मौदानी इलाकों में बाढ़ का कहर है। बिहार में गंगा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। इसके तटवर्ती जिलों में 22 लाख से अधिक की आबादी पानी से घिर गई है।

बिहार में 12 जिले ऐसे हैं, जहां से गंगा गुजरती है। बक्सर, भोजपुर, पटना, सारण, वैशाली, बेगूसराय, मुंगेर, खगड़िया, भागलपुर और कटिहार के दियारा इलाके के सैकड़ों गांव जलमग्न हैं और हजारों की आबादी प्रभावित है। वहीं, राजधानी पटना से सटे दानापुर के कई गांवों में पानी घुस गया है। लोग पलायन करने लगे हैं।

पटना में पानी भरने से लोगों की जिंदगी कुछ इस तरह से गुजर रही है। राजधानी के इस हालात ने राज्य सरकार पर सवाल खड़े किए हैं।

पटना में पानी भरने से लोगों की जिंदगी कुछ इस तरह से गुजर रही है। राजधानी के इस हालात ने राज्य सरकार पर सवाल खड़े किए हैं।

CM नीतीश बोले- ठीक से हो बाढ़ से नुकसान का आकलन
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शुक्रवार को आरा और सारण जिले के बाढ़ पीड़ित इलाकों का जायजा लिया। इसके बाद उन्होंने कहा कि बाढ़ पीड़ित इलाकों में हुई क्षति का आकलन ठीक से हो। किसानों की धान रोपनी के नुकसान का भी आकलन कराया जाए। अधिकारी-कर्मचारी, पीड़ित लोगों से संपर्क बनाए रखें और पूरी तत्परता के सबकी सहायता करें।

पटना के निचले इलाकों में पानी भरने से लोगों का पलायन शुरू हो गया है। इनका कहना है कि घरों में पानी भर गया है, वहां रहना मुश्किल है।

पटना के निचले इलाकों में पानी भरने से लोगों का पलायन शुरू हो गया है। इनका कहना है कि घरों में पानी भर गया है, वहां रहना मुश्किल है।

UP के 23 जिलों में 5,46,049 की आबादी बाढ़ से प्रभावित
उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में 13.1 मिमी बारिश हुई, जो सामान्य से 154% अधिक है। UP के 23 जिलों के 1,243 गांवों में 5 लाख 46 हजार से अधिक की आबादी बाढ़ से प्रभावित है। सिंचाई विभाग ने बताया है कि बदायूं, प्रयागराज, मिर्जापुर, वाराणसी, गाजीपुर और बलिया जिले में गंगा नदी खतरे के निशान के ऊपर बह रही है। औरैया, जालौन, हमीरपुर, बांदा और प्रयागराज में यमुना भी खतरे के निशान के ऊपर है।

गंगा से लगते जिलों में बारिश का अलर्ट
गंगा से लगते जिलों में आज भी बारिश का अलर्ट जारी है। पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के गंगा से लगते इलाकों में 14 अगस्त तक भारी बारिश को लेकर अलर्ट किया गया है। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार, देश में 1 जून से 10 अगस्त तक सामान्य से 5% कम बारिश हुई है।

वाराणसी में दशाश्वमेध घाट की ओर जाने वाले रास्ते पर गंगा में आई बाढ़ का पानी भर गया है। श्रद्धालु इसी में स्नान कर रहे हैं।

वाराणसी में दशाश्वमेध घाट की ओर जाने वाले रास्ते पर गंगा में आई बाढ़ का पानी भर गया है। श्रद्धालु इसी में स्नान कर रहे हैं।

हरियाणा, राजस्थान और मध्यप्रदेश की वजह से UP में बाढ़: CM योगी
शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बाढ़ से जूझ रहे गाजीपुर फिर बलिया पहुंचे। यहां उन्होंने बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात की। उन्हें राहत सामग्री बांटी है। सीएम ने कहा कि यूपी में बाढ़ हरियाणा, राजस्थान और मध्यप्रदेश से छोड़े गए पानी की वजह से आई है। इसकी वजह प्रदेश के 24 जिलों में 620 गांव प्रभावित हैं।

प्रयागराज के छोटा बघाड़ा कछारी इलाके में बने घर गंगा के पानी से पूरी तरह से गिर गए हैं। यहां के लोगों का आम जन-जीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है।

प्रयागराज के छोटा बघाड़ा कछारी इलाके में बने घर गंगा के पानी से पूरी तरह से गिर गए हैं। यहां के लोगों का आम जन-जीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है।

UP के चित्रकूट में कई गांवों में पानी भर गया है। यहां से लोगों का पलायन शुरू हो गया है। लोग ऊंचे स्थानों पर शिफ्ट हो रहे हैं।

UP के चित्रकूट में कई गांवों में पानी भर गया है। यहां से लोगों का पलायन शुरू हो गया है। लोग ऊंचे स्थानों पर शिफ्ट हो रहे हैं।

दिल्ली में अगस्त में अब तक 54% बारिश कम हुई
मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली में अगस्त में अब तक करीब 54% बारिश की कमी दर्ज हुई है। अधिकारियों ने बताया कि आने वाले 10 दिनों में यहां बारिश होने के आसार हैं। जुलाई में तकरीबन 507.1 मिमी बारिश हुई, जोकि औसत 210.6 मिमी से दोगुने से ज्यादा थी।

अगस्त में साउथ दिल्ली में 49% बारिश की कमी दर्ज की गई। वहीं, दक्षिण-पश्चिम दिल्ली में 46% की कमी रही और नई दिल्ली में 33% कम बारिश हुई। उत्तर पश्चिमी दिल्ली में भी 20% बारिश की कमी दर्ज की गई। पश्चिमी दिल्ली में 80% कम बारिश हुई और उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भी 80% बारिश की कमी रही।

खबरें और भी हैं…



Source link

Share:

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on linkedin
Share on whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *